Jharkhand Mukti
Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

Jharkhand Muktiझारखण्ड विकास मोर्चा के प्रवक्ता अजीज मुबारकी ने नागरिकता कानून को असंवैधानिक और गरीब विरोधी बताते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है. मुबारकी ने प्रेस विज्ञाप्ति जारी कर कहा है

जिस देश में प्राकृतिक आपदा, बेरोजगारी,भूखमरी, हिंसा एक विकराल समस्या है

जहां आंतरिक विस्थापन दुर्भाग्यपूर्ण है

जिस देश में जहां सर्वोच्च पद धारण करने वाले व्यक्ति अपनी शैक्षणिक डिग्री का प्रमाण नहीं दे पाते

उस देश में गरीब दलित आदिवासी अशिक्षित को अपनी नागरिकता साबित करने वाले दस्तावेज मांगे जा रहे हैं

जिस देश में लोगों द्वारा चुनी गई सरकार अपने ही देश के नागरिक से नागरिकता साबित करने को कहती है

हम सब जानते हैं कि विदेशियों को ढूंढने और निकालने के लिए हमारे पास पर्याप्त कानून है ।

नागरिक संशोधन कानून न केवल असंवैधानिक है बल्कि गरीब विरोधी जातिवादी भेदभाव करने वाली एक कानून है।

अजीज मुबारकी ने मोदी सरकार पर जम कर हमला बोला। मुबारकी ने कहा की जो कानून मोदी सरकार ले कर आयी है वो संविधान के खिलाफ है और जातिवाद में भेदभाव करने वाला है हमारे पास दूसरे देश से आये लोगो को पहचान करके निकलने के बहुत से तरीके है लेकिन मोदी सरकार इस बिल को लेकर लोगो के बीच अशांति फैला रही है

Also Read: विधानसभा के लिए थम गया चुनाव प्रचार का शोर ! हेमंत, बाबूलाल, सुदेश और रघुवर दास ने झोकी पूरी ताक़त

उन्होंने कहा की देश में युवा बेरोजगार, आर्थिक मंदी, जनता भुखमरी के शिकार हो रहे है लेकिन मोदी सरकार इन समस्याओ का हल निकलने की जगह लोगो को आपस में लड़वा रहे है. प्रधानमंत्री मोदी को आड़ेहाथों लेते हुए अजीज मुबारकी ने हा की उच्च पद पर बैठे लोग अपनी शैक्षणिक डिग्री नहीं नहीं दिखा सकते है और वही लोग देश के नागरिको से अपनी नागरिकता साबित करने के लिए प्रमाण मांग रहे है इस से ज्यादा दुःख की बात क्या होगी की जिस जनता ने लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए अपने मत का इस्तेमाल करके सरकार चुनी है उन्हें अब अपनी नागरिकता साबित करनी होगी

Leave a Reply