Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

कोडरमा की राजनीति में स्त्रियो का अहम रोल रहा है। झारखंड अलग के बाद कोडरमा विधानसभा की सीट पर राजद का डंका बजता रहा और अन्नपूर्णा देवी विधायक बनती रही अन्नपूर्णा देवी प्रदेश में मंत्री भी रह चूकी है। लेकिन 2014 के विधानसभा में कुछ ऐसा हुआ जो शायद ही किसी ने सोचा होगा ! राजद का गढ़ माने जाने वाले सीट कोडरमा में पहली बार भाजपा ने अपने झंडे गाड़ दिये और पूर्व जिप उपाध्यक्ष नीरा यादव विधायक बनी ! जीत का जश्न कुछ इस कदर चढ़ा की रघुवर सरकार में नीरा यादव शिक्षा मंत्री के पद से नवाजा गया ।

नीरा यादव और अन्नपूर्णा देवी एक दुसरे की राजनीतिक तौर पर घोर विरोधी हो चूकी थी लेकिन इन दोनो के बीच एक तीसरी महिला की एंट्री हुई यानी जिप अध्यक्ष शालीनी गुप्ता ! शालीनी गुप्ता की सियासी सफर भी बड़ा अनोखा रहा रहा है शालिनी गुप्ता ने अपना पहला चुनाव पंचायत समिति का लड़ा और प्रमुख बनी गयी उसके बाद 2015 के पंचायत चुनाव में जिला परिषद का चुनाव लड़ा और कोडरमा की जिला परिषद अध्यक्ष बन गयी उसके बाद क्या था समर्थको ने विधायक बनाने का सपना सजोने लगे और हुआ भी कुछ ऐसा ही आव देखा न ताव और जिप अध्यक्ष ने भाजपा का दामन थाम लिया ! मुख्यमंत्री से लेकर कई मंत्री एंव पदाधिकारियो के साथ मिलने की खबरे आती रही और इसी बीच राजनीतिक गलियारो में चर्चा शुरू हुई की शिक्षा मंत्री का टिकट काट जिप अध्यक्ष को टिकट मिलेगा !

Read This: जिला परिषद अध्यक्ष शालिनी गुप्ता ने थामा आजसू का दामन

2019 के लोकसभा चुनाव के वक्त भाजपा की घोर विरोधी रही अन्नपूर्णा देवी ने भाजपा का दामन थामा और भाजपा ने उन्हे कोडरमा से टिकट भी दे डाला और जीत कुछ इस कदर हुई की कोडरमा का सारा रिकॉर्ड टूट गया चुनावी मैदान में मुख्य विरोधी झाविमो के सुप्रिमो बाबूलाल मरांडी थे। श्री मरांडी को भी ऐसी उम्मीद न रहा होगा जैसा जन-समर्थन अन्नपूर्णा को मिला था !

नीरा यादव की मुख्य विरोधी अन्नपूर्णा अब सासंद बन गयी थी इसलिए विधानसभा में उनका रास्ता साफ दिख रहा था लेकिन फिर एक बार चर्चा शुरू हुई की भाजपा नीरा यादव के कामो से खुश नहीं इसलिए इनका टिकट काट शालिनी गुप्ता को दिया जायेगा फिर क्या था दोनो के समर्थको ने सोशल मीडिया पर एक दूसरे को अपनी मजबूती दिखाना शुरु कर चुके थे !

2019 के विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद दिल्ली के दरबार में हाजरी लगाने दोनो नेत्री पहुँच गयी इधर राजनीतिक गहमा-गहमी के बीच दोनो के समर्थक सोशल मीडिया पर तू-तू मैं-मैं की स्थिति तक पहुँच गये इंतजार था तो सिर्फ टिकट की घोषणा का ! भाजपा ने अपनी पहली लिस्ट में ही मंत्री महोदया को कोडरमा से दोबारा अपना प्रत्याशी बना डाला इसके बाद टिकट की आश लगायी शालिनी गुप्ता की सारी उम्मीदो पर पानी फिर गया समर्थको में उबाल का महौल था इसी बीच शालिनी गुप्ता के फेसबुक पर एक शायरीयो से भरा पोस्ट किया गया जिसमें वो इसारा करती दिख रही थी कि चुनाव अवश्य ही लडेगे।

शालिनी गुप्ता ने आजसू और भाजपा का गठबंधन टूटने के बाद आजसू का दामन थाम चुकी है और आजसू उन्हे कोडरमा से नीरा यादव के खिलाफ अपना उम्मीदवार बना सकती है। देखना दिलचस्प होगा की आखिर इस राजनितिक युद्ध में कौन किस पर भारी पड़ते है ! अपने कार्यकर्ताओ के साथ विचार विमर्श कर शालिनि गुप्ता ने आजसू का दामन थामा हैं पार्टी ने अभी तक उन्हें कोडरमा से अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया हैं लेकिन सम्भवता पार्टी शालिनी को टिकट देगी जबकि नीरा यादव अपने समर्थको के साथ जनसंपर्क करने में लग गयी हैं. कोडरमा से नीरा यादव फिर विधायक बनती या फिर शालिनी उन्हें हरा पाती है या फिर कोई तीसरा इन दोनों के बीच की प्रतिस्पर्धा का फायदा उठा पाते है ये तो 23 दिसंबर को साफ हो जायेगा

Leave a Reply