teachers-jharkhand

पारा शिक्षकों के लिए जल्द आ सकती है खुशखबरी, नियमित करने पर बन सकती है बात

Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on telegram
Share on reddit

झारखंड में पारा शिक्षको को नियमित करने को लेकर कई आंदोलन हुए है. पूर्व की रघुवर सरकार में जब पारा शिक्षको द्वारा नियमित करने की मांग रखी गई तो टाल-मटोल करते हुए 5 साल गुजर गए. एक वक्त ऐसा भी आया जब नियमित करने की मांग को लेकर राज्य के स्थापना दिवस (15 नवंबर 2018) के दिन उनपर पुलिस के द्वारा लाठी चार्ज भी किया गया. उस वक्त तत्कालीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन नेता प्रतिपक्ष हुआ करते थे. और उन्होंने इस मुद्दे को खूब भुनाया था.

राज्य में नई हेमंत सरकार बनने के बाद पारा शिक्षा को ये उम्मीद है की उन्हें नियमित कर दिया जायेगा, परन्तु सरकार बनने के छः माह तक उनके हाथ कुछ नहीं लग पाया है. राज्य में शिक्षा मंत्री भी ऐसे व्यक्ति को बनाया गया है जो पारा शिक्षको के मुद्दे पर मुखर रहे है. ऐसे व्यक्ति के मंत्री बनने के बाद भी छः माह ताका पारा शिक्षको को नियमित नहीं करने की प्रक्रिया भी चिंता का विषय है.

जल्द नियमित किए जायेंगे पारा शिक्षक:

कोरोना काल के बीच झारखंड के तक़रीबन 60 पारा शिक्षको के खुशखबरी आ सकती है. लम्बे समय से नियमितीकरण की मांग को लेकर आंदोलन करने वाले पारा शिक्षको के हक़ में जल्द ही कोई बड़ी खबर आने की संभावना है. प्राप्त जानकारी के अनुसार नियमितीकरण को लेकर झारखंड शिक्षा परियोजना की तरफ से उन्हें नियमित करने पर विचार किया जा रहा है और इसे लेकर एक प्रस्ताव भी तैयार किया जा रहा है, ताकि जल्द से जल्द राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तक फाइल को लाया जा सके और पारा शिक्षको को नियमित करने की बात सही साबित हो पाए.

जल्द खत्म होगी फाइलों की अड़चन:

लम्बे समय से अपने नियमितीकरण को लेकर संघर्ष कर रहे पारा शिक्षको को अच्छी खबर मिलने की उम्मीद बढ़ गई है. क्यूंकि झारखंड शिक्षा परियोजना द्वारा नियमित करने का जो प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है उस फाइल को शिक्षा मंत्री तक अगले कुछ दिनों में पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है, ताकि इस पर जल्द फैसला लिया जा सके, साथ ही कोई परेशानी कड़ी होने की स्थिति में महाधिवक्ता से विचार किये जा सके.

Leave a Reply

In The News

निशीकांत दूबे के समर्थन में उतरे बाबूलाल, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

झारखंड की सियासत में बाबूलाल मरांडी एक बड़ा नाम है. राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री रहे बाबूलाल मरांडी बीजेपी छोड़ने के…

आदिवासी संगठनों का निर्णय, सरना स्थल से मिट्टी उठाने वाले भाजपा नेताओ का सामाजिक बहिष्कार

धार्मिक रूप से देश का सबसे बड़ा विवादित मुद्दा बना रहा राम मंदिर और बाबरी मस्जिद निर्माण का विवाद सुप्रीम…

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा, संताल परगना में जल्द खुलेगा कोरोना जांच के लिए आधुनिक लैब

रिम्स में प्लाज्मा थेरेपी का उद्घाटन करने के बाद राज्य सरकार द्वारा पलामू में भी एक बायोसेफ्टी लेवल का प्रयोगशाला…

BJP सांसद निशिकांत दुबे की MBA डिग्री फर्जी, ट्विटर पर CM समेत झामुमो और सांसद आमने-सामने

गोड्डा के बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे की MBA की डिग्री फर्जी मामले ने तूल पकड़ लिया है. राज्य के मुखिया…

कुणाल सारंगी ने कहा, राज्य में कोरोना के मामले बढ़ रहे, लेकिन राज्य सरकार ट्रान्सफर पोस्टिंग में लगी है

झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, संक्रमण का कहर ऐसा है की आम इंसान तो…

CM ने युवती को पीटने पर लिया था संज्ञान, निलंबित बरहेट थानेदार पर स्पीडी ट्रायल होगी कार्रवाई

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधानसभा क्षेत्र बरहेट के थानेदार हरीश पाठक ने एक युवती के साथ अभद्र व्यवहार किया था.थानेदार…

Get notified Subscribe To The News Khazana

Follow Us

Popular Topics

Trending

Related News