Skip to content
teachers-jharkhand
Advertisement

पारा शिक्षकों के लिए जल्द आ सकती है खुशखबरी, नियमित करने पर बन सकती है बात

teachers-jharkhand
Advertisement
Advertisement
Advertisement
पारा शिक्षकों के लिए जल्द आ सकती है खुशखबरी, नियमित करने पर बन सकती है बात 1

झारखंड में पारा शिक्षको को नियमित करने को लेकर कई आंदोलन हुए है. पूर्व की रघुवर सरकार में जब पारा शिक्षको द्वारा नियमित करने की मांग रखी गई तो टाल-मटोल करते हुए 5 साल गुजर गए. एक वक्त ऐसा भी आया जब नियमित करने की मांग को लेकर राज्य के स्थापना दिवस (15 नवंबर 2018) के दिन उनपर पुलिस के द्वारा लाठी चार्ज भी किया गया. उस वक्त तत्कालीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन नेता प्रतिपक्ष हुआ करते थे. और उन्होंने इस मुद्दे को खूब भुनाया था.

राज्य में नई हेमंत सरकार बनने के बाद पारा शिक्षा को ये उम्मीद है की उन्हें नियमित कर दिया जायेगा, परन्तु सरकार बनने के छः माह तक उनके हाथ कुछ नहीं लग पाया है. राज्य में शिक्षा मंत्री भी ऐसे व्यक्ति को बनाया गया है जो पारा शिक्षको के मुद्दे पर मुखर रहे है. ऐसे व्यक्ति के मंत्री बनने के बाद भी छः माह ताका पारा शिक्षको को नियमित नहीं करने की प्रक्रिया भी चिंता का विषय है.

जल्द नियमित किए जायेंगे पारा शिक्षक:

कोरोना काल के बीच झारखंड के तक़रीबन 60 पारा शिक्षको के खुशखबरी आ सकती है. लम्बे समय से नियमितीकरण की मांग को लेकर आंदोलन करने वाले पारा शिक्षको के हक़ में जल्द ही कोई बड़ी खबर आने की संभावना है. प्राप्त जानकारी के अनुसार नियमितीकरण को लेकर झारखंड शिक्षा परियोजना की तरफ से उन्हें नियमित करने पर विचार किया जा रहा है और इसे लेकर एक प्रस्ताव भी तैयार किया जा रहा है, ताकि जल्द से जल्द राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तक फाइल को लाया जा सके और पारा शिक्षको को नियमित करने की बात सही साबित हो पाए.

जल्द खत्म होगी फाइलों की अड़चन:

लम्बे समय से अपने नियमितीकरण को लेकर संघर्ष कर रहे पारा शिक्षको को अच्छी खबर मिलने की उम्मीद बढ़ गई है. क्यूंकि झारखंड शिक्षा परियोजना द्वारा नियमित करने का जो प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है उस फाइल को शिक्षा मंत्री तक अगले कुछ दिनों में पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है, ताकि इस पर जल्द फैसला लिया जा सके, साथ ही कोई परेशानी कड़ी होने की स्थिति में महाधिवक्ता से विचार किये जा सके.