thenewskhazana.com

मंत्री जगरनाथ महतो ने दी मंजूरी, नपेंगे 144 शिक्षक सहित 200 इंजीनियर, जानिए ऐसा क्यों हो रहा है

Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on telegram
Share on reddit

झारखण्ड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो इन दिनों काफी सुर्ख़ियो में है. ऐसा इसलिए क्यूंकि वो निर्णय ले रहे है वो उनके कार्यकाल का सबसे बड़ा फैसला भी साबित हो सकता है.

दरअसल मामला धनबाद के डीईओ रहे बांके बिहारी से जुड़ा हुआ है. कुछ दिनों पहले ही 6 साल पुराने चापाकल घोटाले मामले में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने संज्ञान लिया था जिसके बाद विभागीय जाँच हुई और बांके बिहारी को दोषी पाया गया और उन्हें पद से मुक्त कर दिया गया. बांके बिहारी फ़िलहाल जामताड़ा में कार्यरत थे.

Also Read: शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने DSE को किया निलंबित, घोटाले का था आरोप

डीईओ बांके बिहारी सिंह के निलंबन के बाद चापाकल घोटाले की गाज अब धनबाद के शिक्षकों पर गिरेगी। बांके बिहारी सिंह के धनबाद में पदस्थापन के दौरान वहां के जिन-जिन स्कूलों में चापाकल लगाए गए, उन सभी स्कूलों के हेडमास्टरों पर प्राथमिकी दर्ज होगी। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के इस प्रस्ताव को शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की हरी झंडी मिलने के बाद विशेष सचिव भीष्म कुमार ने यह आदेश जारी किया है।

Also Read: शिक्षा मंत्री के आदेश पर हुई कार्रवाई, निजी विद्यालय पर लॉकडाउन की अवधि का फ़ीस मांगने का है आरोप

जारी आदेश में कहा गया है कि वर्ष 2013-14 में धनबाद के सरकारी प्राथमिक स्कूलों में चापाकल लगवाने में गंभीर अनियमितता बरती गई थी। सरकारी राशि की बंदरबांट हुई थी। बगैर टेंडर के ही 144 स्कूलों में चापाकल के लिए बोरिंग कराया गया था। स्कूलों में 200 फीट की जगह 100 फीट बोरिंग हुई, जबकि, भुगतान 200 फीट का किया गया। प्रत्येक स्कूल में 5500 रुपए से लेकर 24,000 रुपए तक अधिक का भुगतान किया गया था।

Also Read: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा गरीबों और जरुरतमंदों के प्रति संवेदनशील है हमारी सरकार

144 शिक्षकों और इंजीनियरों समेत करीब 200 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज होगी। दोषी इंजीनियरों को झारखंड शिक्षा परियोजना के राज्य परियोजना निदेशक चिह्नित करेंगे, जबकि दोषी शिक्षकों, गलत वाउचर बनाने वाले तथा आपूर्तिकर्ताओं की पहचान धनबाद के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी करेंगे। झारखंड शिक्षा परियोजना ड्राफ्ट बनाने में सहयोग करेगा। धनबाद डीपीओ को 15 मई तक एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है। धनबाद के उपायुक्त को इन शिक्षकों के खिलाफ 30 मई तक कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। प्राथमिक शिक्षा निदेशक को इस काम का मॉनिटरिंग करने की जिम्मेवारी मिली है। दोषी इंजीनियरों के खिलाफ जेईपीसी को 30 मई तक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply

In The News

NEET 2020 Answer Key: नीट आंसर की इस दिन होगी जारी

NTA NEET Answer Key 2020: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) जल्द ही नीट 2020 परीक्षा की ऑफिशियल आंसर की अपने अधिकारिक…

कोरोना से जंग जीतकर दिल्ली से लौटे झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन, CM खुद लेने पहुंचे एअरपोर्ट

कोरोना संक्रमित होने के बाद झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सह वर्तमान में राज्यसभा सांसद एवं झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन कोरोना…

दुमका दौरे पर जाने की तैयारी में बाबूलाल, उपचुनाव में झामुमो को शिकस्त देने पर बनायेगे रणनीति

झारखंड के 2019 विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा में घर वापसी करने वाले राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी तकरीबन…

मानसून सत्र और विधानसभा उपचुनाव से पूर्व आज होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक

झारखंड में आगामी 18 सितंबर से विधानसभा में मानसून सत्र की शुरुआत होने वाली है साथ ही राज्य के दो…

SSC Exam 2020: CHSL, CGL, JE परीक्षा शहर बदलने के लिए तीन दिन

 SSC Exam 2020: कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) ने अक्टूबर और नवंबर माह के दौरान आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के…

गाड़ी में पढाई करते दिखे शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो इन दिनों अपनी पढ़ाई को लेकर काफी चर्चा में है। दरअसल, ऐसा इसलिए क्योंकि…

Get notified Subscribe To The News Khazana

Follow Us

Popular Topics

Trending

Related News

जोहार 😊

Popular Searches