momentlogo

मोमेंटम झारखंड की होगी जाँच एसीबी ने सरकार से जाँच शुरू करने की मांगी अनुमति

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखण्ड में पूर्व की रघुवर सरकार के दौरान शुरू की गयी थी. इस योजना के शुरुवात के आयोजन में करोड़ो रूपये खर्च किये गए जिसमे ये दावा किया गया की देश तथा विदेशो से भी निवेशक झारखण्ड में आ कर निवेश करेंगे जिससे झारखण्ड के लोगो को रोजगार मिलेगा। इस योजना को सफल बनाने के लिए झारखण्ड के कई अधिकारियो को विदेशो का भर्मण भी कराया गया था.

Advertisement

Also Read: सीएम हेमंत सोरेन ने विंध्याचल में की पूजा, झारखंड के सर्वांगीण विकास के लिए आशीर्वाद मांगा

मोमेंटम झारखंड तो सफल नहीं हो पाया और जो भी निवेशक झारखण्ड में निवेश करने आये थे वो ये कहते हुए चले गए की झारखण्ड में निवेश करने का माहौल नहीं है. पूर्व की भाजपा सरकार पर निवेशकों ने आरोप लगाते हुए कहा की उन्होंने हमें सुरक्षा मुहैया करने में असफल रहे है. मोमेंटम झारखण्ड में घोटालो की बात सामने आयी थी जिसे नेता प्रतिपक्ष रहते हेमंत सोरेन ने खूब उठाया था और इसका असर भी दिखा की झारखण्ड की जानता रघुवर दास के काम ने काफी नाराज़ थी जिस कारण से उन्हें सत्ता भी गवाना पद गया

Also Read: हेमंत सरकार का बड़ा फैसला, रघुवर दास के मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना होगी बंद

मोमेंटम झारखण्ड के घोटालो की जाँच करने के लिए एसीबी ने सरकार से जाँच के आदेश मांगे है, एसीबी ने मोमेंटम झारखंड 2017 में हुए घोटालो की फाइल को मंत्रिमंडल निगरानी विभाग के पास भेज दिया है. शिकायत पर विभाग और सरकार से अनुमति मिलने के बाद ही जाँच की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा सकता है. जाँच के दौरान घोटाले से संबंधित तथ्य आने के बाद एसीबी की ओर से मामले में प्राथमिकता दर्ज करके आगे की अनुसंधान के लिए अनुमति ले जाएगी।

Also Read: मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने रोजगार मेला का किया उद्घाटन, कहा रोजगार देगी सरकार पलायन रोकना प्राथमिकता

मोमेंटम झारखण्ड में हुए घोटालो की शिकायत पंकज यादव नमक एक व्यक्ति ने की थी. पंकज ने कहा एसीबी से अपनी शिकायत में कहा है की मोमेंटम झारखंड के नाम पर करोड़ो रूपये के घोटाले हुए है और 100 करोड़ से अधिक के पब्लिक मनी का दुरुपयोग किये जाने की शिकायत की गयी है. इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में पीआइएल भी दायर की जा चुकी है.

Also Read: एम्बुलेंस नहीं मिलने से मरीज की मौत, गुमला का है मामला

जिस प्रकार से हेमंत सोरेन ने मोमेंटम घोटाले को लेकर जनता के बीच मुखर होकर अपनी बातो को रखा है उससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है की हेमंत सोरेन का मंत्रिमंडल इस विषय पर जाँच के आदेश दी देगा।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches