Skip to content
latehar vaccination and test

उपायुक्त अबु इमरान के निर्देश पर पहाड़ी पर बसे गांव भोखाखाड़ के लोगो का किया गया कोरोना जाँच एवं टीकाकरण DC Latehar

Arti Agarwal

उपायुक्त अबु इमरान (DC Latehar)के निर्देश पर एसडीओ लातेहार के नेतृत्व में बीडीओ लातेहार समेत स्वास्थ्य विभाग की कोरोना जाँच एवं टीकाकरण टीम 3 किलोमीटर की दुर्गम चढ़ाई वाले रास्ते में पैदल चल कर पहाड़ी पर बसे गांव भोखाखाड़ पहुँची

Advertisement

लातेहार: झारखंड सरकार के द्वारा 18-44 वर्ष के लोगो को नि:शुक्ल कोरोना का वैक्सीन देने का निर्णय लिया है. राज्य में टीकाकरण भी तेजी से चल रहा है. साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य भर में डोर-टू-डोर कोरोना जाँच करने का भी एलन किया है. इसी कड़ी में उपायुक्त लातेहार अबु इमरान के निर्देश पर एसडीओ लातेहार शेखर कुमार के नेतृत्व में बीडीओ लातेहार गणेश रजक समेत स्वास्थ्य विभाग की कोरोना जाँच एवं टीकाकरण टीम 3 किलोमीटर की दुर्गम चढ़ाई वाले रास्ते में पैदल चल कर पहाड़ी पर बसे गांव भोखाखाड़ पहुँची l

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने भोखाखाड़ में रहने वाले आदिवासी परिवारों के 38 व्यक्तियों का रैट किट से कोरोना जाँच किया l जाँच में सभी व्यक्ति कोरोना नेगेटिव पाये गये l स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा भोखाखाड़ के 21 व्यक्तियों का कोरोना टीकाकरण किया गया l भोखाखाड़ में किसी व्यक्ति को कोरोना संक्रमण होने पर दुर्गम क्षेत्र में होने की वजह से दवा उपलब्ध होने में समस्या हो सकती है इसके मद्देनज़र एसडीओ लातेहार शेखर कुमार ने वहां रहने वाले परिवारों को 25 मेडिकल किट प्रदान किया l एसडीओ लातेहार ने कोरोना संक्रमण से मृत मोनिका आइंद की पुत्री नीलम आइंद को मुख्यमंत्री राहत किट प्रदान किया l मुख्यमंत्री राहत किट के अंतर्गत खाद्यान्न तथा 2 हजार रूपये की सहायता राशि प्रदान किया गया l स्वास्थ्य विभाग की टीम में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी लातेहार डॉ खालसू हांसदा, डॉ, राजेश कुमार, आईडीएसपी डाटा मैनेजर वेद प्रकाश, दो सहिया, 2 एएनएम , एक कंप्यूटर ऑपरेटर शामिल थे l

बता दें की राज्य सरकार के द्वारा लागू की गयी स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की अवधि 3 जून को समाप्त हो रही है. राज्य सरकार ने काफी हद तक कोरोना पर काबू पा लिया है. राज्य में कोरोना संक्रमितों की रफ़्तार धीमी है साथ ही राज्य का संक्रमण दर 1 फीसदी पर पहुँच गया है. राज्य में स्वस्थ्य होने वाले मरीजो की संख्या संक्रमित होने वालों से अधिक है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches