Sita Soren mla

ट्विटर पर तेजी से झामुमो विधायक सीता सोरेन से जुड़ रहे लोग, जनहित के मुद्दों को अक्सर उठातें रहती है

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखंड में नई सरकार बनने के बाद सोशल मीडिया का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है खास करके अब हर कोई सोशल मीडिया से जुड़कर अपनी बातों को अपने विधायक और मुख्यमंत्री तक पहुंचा कर समस्या का समाधान करवाना चाहता है. भारतीय जनता पार्टी के नेता सोशल मीडिया पर शुरुआत से ही सक्रिय रहे हैं लेकिन झारखंड की सबसे बड़ी क्षेत्रीय पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा भी उन्हें अब कड़ी टक्कर देती दिखाई देती है

Advertisement

राज्य की सत्ता संभालने के बाद हेमंत सोरेन सरकार में सोशल मीडिया के सहारे ही आम जनता की समस्याओं को सुनने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन इन सबके बीच एक ऐसी महिला विधायक उभरकर के सामने आ रही हैं जो जनहित के मुद्दे उठाकर राज्य की जनता के बीच खासी लोकप्रिय हो रही हैं संथाल परगना के जामा विधानसभा क्षेत्र से झारखंड मुक्ति मोर्चा की विधायक सीता सोरेन जो पार्टी की महासचिव भी हैं और रिश्ते में सीएम हेमंत सोरेन की बड़ी भाभी हैं वह ट्विटर पर आजकल काफी सक्रिय हैं और जनहित के मुद्दे उठाकर लोगों तक उनकी समस्या का समाधान करा रहे हैं.

विधायक सीता सोरेन अक्सर अपने टि्वटर अकाउंट से लोगों को मदद पहुंचाते हुए दिख जाती है राज्य की जनता भी उनसे जुड़कर अपनी समस्याएं रखती हैं जिन पर वे संज्ञान लेकर मुख्यमंत्री और संबंधित जिला के उपायुक्तों की मदद से उन तक मदद पहुंचाने के प्रयास करती हैं विधायक सीता सोरेन के ट्विटर अकाउंट पर 10,000 से अधिक लोग जुड़े हुए हैं विधायक सीता सोरेन केवल अपने ही विधानसभा क्षेत्र की मुद्दों को नहीं उठाती बल्कि राजभर के लोगों की समस्याओं को प्राथमिकता देती हैं

बीते 21 नवंबर को एक टि्वटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया जिसमें कहा गया कि शहीद गणेश पांडे के आश्रित को अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति करने में मदद करें इस पर विधायक सीता सोरेन ने संज्ञान लेते हुए देवघर उपायुक्त से आग्रह किया कि देश सेवा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीद गणेश चंद्र पांडे के परिवार को अनुकंपा के आधार पर नौकरी दिलाने में तत्परता दिखाते हुए फाइल में संज्ञान ले साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बेहद दुखद है कि 16 वर्षों से शहीद जवान का परिवार सरकारी सहायता के लिए पलके बिछाए बैठा है.

उपायुक्त देवघर को किए गए ट्वीट पर जिले के डीसी ने संज्ञान में लिया और डीसी ने विधायक के ट्वीट पर जवाब देते हुए कहा कि मामले की गंभीरता को संज्ञान में लेते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है जल्दी पात्रता के अनुरूप आगे की प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाएगी.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches