Hemant Soren

विधानसभा से सरना धर्मकोड पारित होने के बाद आदिवासी समाज के लोगे ने सीएम को किया सम्मानित

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

बुधवार 11 नवंबर को झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर आदिवासी समाज की तरफ से लंबे समय से की जा रही मांग का प्रस्ताव विधानसभा से पारित करके केंद्र सरकार को भेज दिया गया है सरना धर्म कोड की मांग आदिवासी समुदायों के द्वारा लंबे समय से की जा रही है परंतु अब तक उनको सफलता हाथ नहीं लगी थी लेकिन राज्य में हेमंत सोरेन की सरकार जो स्वयं ही एक आदिवासी मुख्यमंत्री हैं उन्होंने विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर आदिवासी सरना धर्म कोड का प्रस्ताव पारित करवाया है

Advertisement

प्रस्ताव पारित होने के बाद गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास पर राष्ट्रीय आदिवासी सरना धर्म रक्षा अभियान के प्रतिनिधि मंडलों ने उनसे मुलाकात कर उन्हें सम्मानित किया है. मुख्यमंत्री को सम्मानित करने के लिए पहुंचे प्रतिनिधियों ने उन्हें शॉल और माला पहनाकर सम्मानित किया साथ ही मिठाई खिलाकर खुशी जाहिर की आदिवासी वेशभूषा और परंपरा के तहत मुख्यमंत्री आवास के भीतर सीएम हेमंत सोरेन मांदर की थाप पर पारंपरिक नृत्य करते भी दिखाई दिए

सरना धर्म कोड के प्रस्ताव को झारखंड विधानसभा से पारित करके केंद्र सरकार को भेजने के बाद हेमंत सोरेन की चमक आदिवासी समुदाय और बड़ी है साथ ही यह अंदेशा जताया जा रहा है कि पूर्ण आदिवासी समाज गोलबंद होकर मुख्यमंत्री के साथ खड़े हैं. सरना धर्म कोड के प्रस्ताव का समर्थन भाजपा ने भी किया है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches