Skip to content
Jharkhand Cabinet

झारखंड में पेट्रोल-डीजल होगा महंगा, जानिए कैबिनेट में किन आदेशो पर लगी मुहर

News Desk

झारखंड कैबिनेट की बैठक 17 जून को प्रोजेक्ट भवन में हुई. बैठक में कैबनेट के द्वारा कई फैसे लिए गए. झारखंड में पेट्रोल दो रुपये और डीजल 76 पैसे महंगा होगा। दूसरी ओर सालाना पांच लाख रुपये से अधिक आय या टर्न ओवर वाले सभी नौकरीपेशा, दुकानदारों, डॉक्टरों आदि से प्रोफेशनल टैक्स वसूला जाएगा।

Advertisement

यह एक जुलाई 2017 से लागू किया गया है। हवाई यात्रा भी महंगी होगी। साथ ही राज्य में कोल बियरिंग लैंड से कोयला, आयरन, बॉक्साइड, लाइम स्टोन, मैगनिज के प्रति मिट्रिक टन डिस्पैच पर कोरोना सेस लगेगा। इसी प्रकार वन क्षेत्र के सभी खनिज पर प्रति मिट्रिक टन 57 रुपये कर लगाने सहित 25 प्रस्तावों पर बुधवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक स्वीकृति दे दी गई।

कैबिनेट सचिव अजय कुमार सिंह ने बताया कि राज्य में पेट्रोल-डीजल पर समान रूप से 22 प्रतिशत वैट लागू है। साथ ही डीजल पर वैट की दर 8.37 रुपये और पेट्रोल पर 15 रुपये है। दोनों में जो ज्यादा होता है वह लागू होता है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे लेत की कीमत कम होने की वजह से दर कम हो जा रही है।

इस कारण सरकार ने सीलिंग की न्यूनतम दर डीजल पर 8.37 रुपये से बढ़ा कर 12.50 रुपये निर्धारित कर दिया है। अब डीजल की कीमत 66.07 रुपये से बढ़कर 66.83 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी। इसी प्रकार पेट्रोल की सीलिंग दर 15 से बढ़ाकर 17 रुपये कर दी गई है। पेट्रोल की नई दर 71.24 रुपये से बढ़कर 73.24 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी।

अब झारखंड में पांच लाख से अधिक आय या टर्न ओवर वाली सभी नौकरीपेशा, दुकानदारों, डॉक्टरों आदि को प्रोफेशनल टैक्स देना होगा। इससे सरकार को 30 करोड़ रुपये की सालाना आय होगी। पुरानी व्यवस्था के तहत केवल नौकरीपेशा लोगों से वसूला जा रहा था। वह भी एक जुलाई 2017 से बंद था। अब इसी डेट लाइन से प्रोफेशनल टैक्स वसूला जाएगा। इसके लिए झारखंड वृत्तियों, व्यापारों, आजीविका और रोजगारों पर कर अधिनियम 2011 की अनुसूची को संशोधित किया गया है। हालांकि नई व्यवस्था अधिसूचना जारी होने के बाद लागू होगी

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches