Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

झारखण्ड विधानसभा चुनाव का रंग सभी पार्टीयो पर चढ़ चूका है हर राजनितिक दल झारखण्ड की सत्ता को हासिल करने को उतारू है. लेकिन झारखंड की राजनीती दो पार्टीयो यानी भाजपा और झामुमो के बीच की लड़ाई हो गयी है भाजपा अगर किसी पर ज्यादा हमलावर है तो वो झामुमो है. महागठबंधन में बड़े भाई की भूमिका निभाने जा रही झामुमो और उसके कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन रघुबर सरकार को झारखंड के हर मुद्दों पर आड़ेहाथों लेते रहे हैं

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल सहदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर झामुमो पर आरोप लगाया है की की झामुमो खुलेआम आपने पार्टी के कार्यकर्ताओ से पैसे ले रही है. टिकट बटवारे के नाम पर 51,000 लिए जा रहे हैं लेकिन पार्टी मैं जो आदिवासी और गरीब है जिन्हे चुनाव लड़ने की इच्छा है वो भला इतने पैसे कहा से लाएंगे। श्री सहदेव ने महागठबंधन पर हमला बोलते हुए कहा की झामुमो भ्रष्टाचार के साथ गठबंधन कर रही है राजद के अध्यक्ष लालू यादव ने चारा घोटाला किया ये सब जानते है. कांग्रेस ने किस तरह से झारखण्ड को लुटा है ये भी किसी से छुपा नहीं है

Read this: https://thenewskhazana.com/hemant-attacked-the-election-commission-and-the-government-saying-we-had-demanded-to-conduct-the-elections-in-one-phase/

मालूम हो की कुछ दिनों पूर्व ही झारखंड में विपक्ष के 6 विधायकों ने भाजपा का दामन थमा था जिसमे से भवनाथपुर से वर्तमान विधायक भानू प्रताप साही पर 110 करोड़ के दवा घोटाले का आरोप है. कुछ दिनों पहले भी शशिभूषण मेहता के भाजपा मैं शामिल होने पर पार्टी के कार्यकर्ताओ ने ही विरोध किया था मेहता पर एक मर्डर का केस था उस परिवार के लोगो ने आरोप लगाया की भाजपा भले ही ये दवा करती है ये साफ़ सुथरी पार्टी है लेकिन इसमें अब अपराधी भरे पड़े हैं

Leave a Reply