Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

झारखण्ड विकास मोर्चा के पौडेयाहाट से विधायक प्रदीप यादव ने स्थानीय नीति को लेकर बड़ा बयान दे दिए है. झारखंड मुक्ति मोर्चा का कल यानी दो फरवरी को दुमका में 41वां स्थापना दिवस मनाया गया जिसमे सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और पार्टी के अध्यक्ष सहित झामुमो के विधायक और पूर्व विधायकों सहित पार्टी कार्येकर्ताओ ने हिस्सा लिए था. स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी की ओर से कई प्रस्ताव पारित किये गए जिसमे स्थानीय निति का भी जिक्र किया गया है और राज्य में स्थानीय नीति को लागू करने का भी प्रस्ताव पारित हुआ.

Also Read: रविंद्र राय का बड़ा बयान कहा- बाबूलाल और भाजपा का डीएनए एक है

विधायक प्रदीप यादव ने एक मीडिया चैनल से बात करते हुए कहा की हम भी स्थानीय नीति के पक्षधर है और ये राज्य में लागू होना चाहिए ताकी झारखण्ड के लोगो को झारखण्ड की नौकरियों सहित अन्य सरकारी चीज़ो का लाभ मिल सके. लेकिन इन सब के बीच सबसे बड़ी बात यह है की ये प्रस्ताव पार्टी के द्वारा पारित किया गया है न की झारखण्ड सरकार के द्वारा पारित किया गया है. सदन के भीतर जब सरकार प्रस्ताव लाएगी तो इसपर विचार विमर्श किया जायेगा जिसके बाद कई कानूनी प्रक्रियाएं है जिसे पार करने के बाद ही इसे पूर्ण रूप से लागू किया जा सकता है.

झाविमो की टूट पर बोले प्रदीप यादव:

झाविमो के विधायक प्रदीप यादव से पार्टी को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा की पार्टी दो भागो में बट गयी है जिसमे एक भाग भाजपा की तरफ है तो दूसरा महागठबंधन की तरफ है लेकिन जब तक पूरा मामला सामने नहीं आ जाता है तब तक कुछ भी कहना सही नहीं होगा।

Also Read: जानिए क्यों 1932 का खतियान झारखण्ड वासियों के लिए जरुरी

मालूम हो की कुछ दिनों से झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी के भाजपा में जाने की चर्चा है जिसके बाद झाविमो की राजनितिक हलचल बढ़ गयी है. पार्टी की नयी कार्यसमिति में विधायक प्रदीप यादव को कोई पद नहीं दिया गया तो वही मंडार से झाविमो की टिकट पर जितने वाले बंधू तिर्की को पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से बाबूलाल मरांडी ने पार्टी से बहार का रास्ता दिखा दिया है. जिसके बाद बाबूलाल मरांडी के भाजपा में जाने की चर्चा और तेज हो गयी. इसी बीच विधायक प्रदीप यादव और बंधू तिर्की ने सोनिया गाँधी से मुलाकात हुयी है. जिससे साफ़ होने लगा है की बाबूलाल भाजपा में तो प्रदीप यादव और बंधू तिर्की कांग्रेस में जाने को तैयार बैठे है

Leave a Reply