दिल्ली का शाहीनबाग़ अब झारखण्ड के रांची में भी

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket
धरने पर बैठी झारखण्ड की महिलाएं CAA का विरोध करती हुई
धरने पर बैठी झारखण्ड की महिलाएं CAA का विरोध करती हुई

रांची : दिल्ली का शाहीनबाग का फूल पुरे भारत में खिल रहा है, CAA विवादित कानून के खिलाफ पहली बार झारखण्ड के राजधानी रांची में महिलाएं शांतिपूर्ण तरीके से 24 घंटे धरने पर बैठी हुई हैं, हजारो की तादाद में महिलाएं जो कभी किसी प्रदर्शन में नहीं गयी, वो आज अपने संविधान की रक्षा करने के लिए उत्तरी हुईं हैं,

महिला का एक समूह CAA का विरोध करती हुई |
झारखंड के विभिन्न हिस्सों की महिलाएं रांची के कडरू में CAA के खिलाफ अनिश्चितकालीन आंदोलन में

महिलाएं नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) के खिलाफ नारे लगा रही हैं।
“चलो प्यार बांटे, देश नहीं”, और
“हिंदू मुस्लिम भाई भाई, CAA, NRC, NPR को बाई बाई” कुछ इस तरह के बैनर हमें देखने को मिले,

Also Read: नागरिकता संसोधन कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज , 144 याचिकाओं पर होगी सुनवाई

मुशायदा यूनुस ने बताया की वह देशभक्तिपूर्ण तरीके से अपना विरोध दर्ज करा रही थी। उन्होंने
स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राम प्रसाद, बिस्मिल और भगत सिंह के चित्रों से सुसज्जित, एक श्लोक रखा, जिसमें लिखा था: “सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है, देखना है ज़ोर से कितना बाजू-ए-कातिल में है”।

ranchi-shaheenbagh
रांची शाहीनबाग़ की चित्रों से सजी हुई गाँधी जी, सुभाष चंद्रबोस, डॉ भीमराओ अमेडकर और अन्य स्वतंत्रता सेनानी से सजी हुई

कार्यक्रम स्थल के पास एक पेड़ को चंद्र शेखर आज़ाद के चित्रों से सजाया गया था। इसके करीब एयरोस्पेस वैज्ञानिक और भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे कलाम की तस्वीर और संविधान की प्रस्तावना की एक प्रति लेकर एक बैनर लगाया गया था।

Also Read: शाहीन बाग: भारत भर की महिलाएँ CAA और NRC के विरोध में सामने आ रही हैं, पढ़ें खास रिपोर्ट |

यह पूछे जाने पर कि इस प्रदर्शन के पीछे कौन सा संगठन था आपकी मदद कर रहा है, और कौन इसमें शामिल है, तो हरमू की यास्मीन लाल ने जवाब दिया: “हम भारत के लोग।”
नुशी बेगम, यास्मीन परवीन, सीमा परवीन और जूही आशिया ने भी यही जवाब दिया।

“यह प्रदर्शन किसी भी राजनीतिक दल या संगठन द्वारा आयोजित नहीं किया गया है। प्रत्येक महिला CAA के खिलाफ विरोध करने की अपनी व्यक्तिगत क्षमता में हिस्सा ले रही है, जो संविधान के धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणराज्य की एकता और अखंडता पर भरोसा रखती हैं।”

धरने पर बैठी झारखण्ड की महिलाएं  CAA का विरोध करती हुई
धरने पर बैठी झारखण्ड की महिलाएं CAA का विरोध करती हुई

Also Read: क्या दुनिया ने देखा है ऐसा प्रदर्शन?देखिए भारत की शाहीन बाग़ की तस्वीरें,

कडरू में CAA-NRC-NPR के खिलाफ यह दूसरा प्रदर्शन है। 12 जनवरी से, उसी इलाके के ईदगाह मैदान में प्रदर्शन आयोजित किया है,

बच्चे बूढ़े रांची शाहीनबाग़ में
बच्चे बूढ़े रांची शाहीनबाग़ में

Leave a Reply

In The News

BJP का राज्य सरकार पर हमला, सोरेन के CM बनने के बाद अपराधिक घटनाएं बढ़ी

झारखंड बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर गंभीर आरोप लगाए हैं प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा…

मां छिन्नमस्तिके के दरबार पहुँचे कृषि मंत्री, शिक्षा मंत्री के बेहतर स्वास्थ्य के लिए किया गया पूजा अर्चना

झारखंड में 8 अक्टूबर से सभी धार्मिक स्थलों को शर्तो के साथ खोल दिया गया है जिसके बाद झारखंड के…

लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर आज हाईकोर्ट में होगी सुनवाई, चारा घोटाला मामले में दोषी है लालू यादव

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता है स्वास्थ्य कारणों की वजह…

भीमा कोरेगांव मामले में NIA ने सामाजिक कार्यकर्ता फादर स्टेन स्वामी को हिरासत में लेकर कर रही है पूछताछ

मुंबई के पुणे में वर्ष 2018 के जनवरी महीने में भीमा कोरेगांव में एक हिंसा भड़की थी हिंसा भड़काने के…

दिवंगत मंत्री हाजी हुसैन के अंतिम दर्शन करने पहुंचे CM सोरेन, पुष्प अर्पित कर दी श्रद्धांजलि

Ranchi: मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी जी के मधुपुर स्थित पैतृक गांव पिपरा में उनके…

झारखंड में कल रहेगी सरकारी छुट्टी, कल होने वाली कई परीक्षाएँ भी की गई रद्द

झारखंड सरकार में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हाजी हुसैन अंसारी का शनिवार को रांची के मेदांता अस्पताल में निधन हो…

जोहार 😊

Popular Searches