Categories
झारखंड

आदिवासी युवती से हुए गैंगरेप मामलें में साहेबगंज पुलिस को मिली सफलता, पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

झारखंड के संथाल परगना के साहिबगंज जिले में विगत कुछ दिनों पूर्व एक आदिवासी युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था मामला प्रकाश में आने के बाद राजनीतिक तौर पर भी मुद्दा काफी गर्म हो गया था परंतु साहिबगंज पुलिस के द्वारा सामूहिक दुष्कर्म में शामिल सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है यह गिरफ्तारी पुलिस ने मामला दर्ज कराने के बाद की गई है. 17 वर्षिय युवती के साथ छह युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था.

Advertisement

साहिबगंज के एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने को कहा कि गुरूवार की रात्रि बास्कोडीह जाने वाली मार्ग पर हुए सामूहिक दुष्कर्म के अपराध में शामिल सभी छह युवकों को शनिवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में अपना अपराध स्वीकार भी कर लिया है। साथ ही पुलिस ने नाबालिग लड़की का पीछा करने में युवकों द्वारा इस्तेमाल की गई मोटरसाइकिल भी बरामद कर ली है। एसपी ने कहा कि पीड़ित लड़की की मेडिकल जांच करवा ली गई है और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है। उन्होंने बताया कि 22 अक्तूबर की रात्रि पीड़िता अपने माता-पिता की सहमति से अपने कुछ दोस्तों के साथ रात्रि लगभग आठ बजे घर से बास्कोडीह के लिए निकली थी।

जब युवती अपने दोस्तों के साथ जा रही थी तो रास्ते में बदमाशों की नजर उन पर पड़ी और उन्होंने लड़की और उसके साथियों का मोटरसाइकिल से पीछा किया। रास्ते में उन्होंने इन सभी को घेर लिया और वहां अपने तीन और साथियों को बुला लिया। फिर सभी लड़की को जबरन खींचकर एक नहर के पास ले गए और वहां उन सभी ने बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. युवती ने मामले की जानकारी अपने माता-पिता दी जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गयी. मामला दर्ज होने के 24 घंटे में पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना में शामिल सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. उन पर भारतीय दंड संहिता की बलात्कार से जुड़ी धाराओं और पाक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने आरोपियों की पहचान अजय कुमार सिंह (18), गौतम कुमार सिंह (21), शंकर कुमार सिंह (22), कुश कुमार (22), दिसंबर कुंवर (18), अनिकेत (18) के रूप में की है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *