Skip to content
thenewskhazana

झारखंड में शराब की होम डिलीवरी पर जल्द फैसला ले सकती है राज्य सरकार

tnkstaff

लॉकडाउन के कारण राशन और मेडिकल जैसी जरुरी चीज़ो को छोड़ सभी तरहा की दुकानों को बंद कर दिया गया था. केंद्र सरकार द्वारा जारी आदेश में शराब की दुकाने खोलने की अनुमति दी गयी जिसके बाद कई राज्यों ने अपने- अपने हिसाब से दुकाने खोली। शराब की दुकाने खुलने के दिन ही दुकानों के बाहर भारी भीड़ देखने को मिली थी. दिल्ली और उत्तरप्रदेश जैसे राज्यों ने शराब के दामों में बढ़ोतरी भी कर दी है.

Advertisement

Also Read: शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने DSE को किया निलंबित, घोटाले का था आरोप

झारखण्ड सरकार भी जल्द ही शराब बेचने पर फैसला ले सकती है. क्यों शारब के जरिये सरकार को एक बड़ा राजस्व प्राप्त होता है. लॉकडाउन होने के कारण राज्य की अर्थव्यवस्था बिगड़ गयी है. इसे पटरी पर लाने के लिए ये निर्णय लिया जा सकता है. दुकाने न खोल कर शराब की होम डिलीवरी हो इसपर सरकार विचार कर रही है.

Also Read: निजी विद्यालयों की फ़ीस माफ़ी पर बाबूलाल ने CM को लिखा पत्र, कहा सभी को ध्यान में रख कर निर्णय ले

राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा है की लॉकडाउन का तीसरा पड़ाव खत्म होने के बाद इसे शुरू किया जा सकता है. शराब से एक बड़ी राशी राज्य को मिलती है. नियम बनाकर इसे चालू कराने की योजना तैयार की जा रही है. सोशल डेस्टीनेशन का पालन हो इसको भी ध्यान में रखें है. बात अगर पिछले वित्तीय वर्ष की करे तो राज्य सरकार को देशी और विदेशी शराब से 21 सौ करोड़ रुपए की प्राप्ति हुई थी.

Also Read: बंगाल सरकार प्रवासीयो के ट्रेन को राज्य में जाने की अनुमति नहीं दे रही है- अमित शाह

शराब बेचने कि अनुमति के बाद कई ऐसे राज्य थे जहाँ दुकानों पर भरी भीड़ देखी गयी थी और सोशल डेस्टिनेशन का उल्लंघन भी हुआ था. इसे ध्यान में रखते हुए राज्य सरकर को फैसला लेना है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches