Skip to content
hemant soren
Advertisement

ग्लेशियर हादसे में मारे गए झारखंड के 11 मजदूरों के शव को नहीं भेजा गया, CM Hemant Soren ने राजनाथ सिंह से मांगी मदद

Shah Ahmad

CM Hemant Soren: झारखंड के 11 मजदूरों की मौत उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे में 23 अप्रैल को हो गई है. उत्तराखंड के जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हुआ था इस घटना में झारखंड के 11 मजदूरों की मौत हो गई. यह मजदूर सीमा सड़क संगठन (BRO) में काम कर रहे थे. बीआरओ की तरफ से मृतक श्रमिकों के शव को झारखंड भेजने के लिए पहल नहीं की गई है जब इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री को लगी तो वह काफी नाराज हुए.

Advertisement

जिसके बाद नाराज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर संबंधित अधिकारी को आदेश देने का आग्रह किया है. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने फोन पर भी रक्षा मंत्री से बात की है. सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर कहा “ उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने से बीआरओ में काम कर रहे वीर श्रमिकों को हमने खो दिया था मृतकों को झारखंड भेजने हेतु बीआरओ द्वारा अभी तक कार्यवाही नहीं की गई है हालांकि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बीआरओ की कार्यप्रणाली पर आक्रोश जताते हुए मदद का आश्वासन दिया है”

मालूम हो कि साल 2020 में लॉकडाउन के दौरान झारखंड से हजारों की संख्या में श्रमिक बीआरओ के माध्यम से सीमा पर सड़क निर्माण करने के लिए गए थे. इनमें से अधिकांश श्रमिक संथाल परगना प्रमंडल के रहने वाले हैं. इसके अलावा आदिवासी बहुल खूंटी, पश्चिम सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम, गुमला, लोहरदगा और लातेहार जिले से भी बड़ी संख्या में श्रमिक काम करने गए हैं. 

Also Read: चुनाव आयोग ने लिया बड़ा फैसला, विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद जीत के जुलूस पर लगाई गई पाबंदी

Leave a Reply