Skip to content
File Pic
File Pic

युवती ने कुछ लोगो सहित थानेदार पर लगाया परेशान करने का आरोप, सीएम के संज्ञान के बाद दर्ज हुई प्राथमिकता

News Desk
File Pic
File Pic

गिरिडीह शहर के एक मुहल्ले में रहने वाली युवती ने कुछ लोगो सहित गिरिडीह मुफ्फसिल थाना के एसआई पर प्रताड़ित करने और उसके भाईयों के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है. बीरेंद्र पासवान नामक एक युवक ने युवती के द्वारा जारी की गयी वीडियो को ट्विटर मुख्यमंत्री हेमंत को टैग करते हुए युवक ने युवती के साथ हुये बुरे बरताव के लिए कार्यवाही की मांग की है. जिसके बाद मुख्यमंत्री ने गिरिडीह पुलिस को मामले की जाँच करने का आदेश दिया।

Advertisement

दो मिनट आठ सेकंड का वीडियो किया पोस्ट:

युवती ने दो मिनट आठ सेकंड के वीडियो पोस्ट किया है। वीडियो में युवती ने कहा कि मेरे साथ काफी दिक्कतें हो रही है। चार दिन पहले मेरे घर के सामने चौराहे पर मुझे चार-पांच लड़के टॉर्चर करते थे। इसका आवेदन थाने में दिया था। थाना में समझौता हो गया लेकिन उसके बाद भी 31 मार्च को मेरे घर में दो लड़के पहुंचे और मुझे घर से निकालकर मेरे साथ मारपीट की। वे मेरा गैंगरेप करना चाहते थे। मैंने शोर मचाया तो मेरी मकान मालकिन पहुंची। हमदोनों के साथ मारपीट की गई। इसके बाद मेरे भइया लोग वहां पहुंचे तो दोनों आरोपी भाग निकले। उस दिन रात हो गई तो हमलोग एक अप्रैल को थाना पहुंचे और शिकायत दी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Also Read: सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करेंगे तो जाना होगा जेल, झारखण्ड पुलिस की नज़र से बचना मुश्किल

महिला ने बताया कि शनिवार सुबह वो फिर से थाना पहुंची। वहां थाना इंचार्ज गौरव कुमार मुझे अलग ले गए और मेरे साथ बदतमीजी की गई। इस दौरान मेरे साथ पहुंचे मेरे भाईयों के साथ भी मारपीट की गई। महिला ने बताया कि अगर लेडी कॉन्सटेबल होती तो अलग बात होती लेकिन एक पुरूष पुलिसकर्मी ने मुझे टॉर्चर किया है। वीडियो में महिला ने आरोपियों के नाम भी बताए। उसने कहा कि बजरंगी राम, गोविंद, सूरज, प्रदीप, आशीष और उसकी मम्मी मुझे परेशान कर रही है। उसने बताया कि मैं रेंट पर रहती हूं, आरोपियों द्वारा कहा जा रहा है कि यहां से चली जाओ नहीं तो तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा। महिला ने कहा कि गलत मेरे साथ हो रहा है और पुलिस आरोपियों पर कार्रवाई करने के बजाए मुझे आवारा और बदचलन बता रही है। उसने इस संबंध में कार्रवाई की मांग की है।

Also Read: रिम्स के डॉक्टरों ने कहा, कोरोना पॉजीटिव युवती में नहीं है कोरोना के लक्षण फिर भी रिपोर्ट पॉजीटिव

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के संज्ञान लेने के बाद युवती को थाने बुलाया गया और मामले पर प्राथिमकता दर्ज की गयी है इसके साथ आगे की कार्यवाही की जा रही है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches