Arnab Goswami

अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर बोली भाजपा आपातकाल के दिन याद आ गए

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी को बुधवार की सुबह मुंबई पुलिस ने एक आत्महत्या मामले में गिरफ्तार किया है असलम गोस्वामी की गिरफ्तारी के बाद भाजपा के नेताओं ने महाराष्ट्र सरकार पर जमकर हमला बोला है भाजपा के नेताओं ने महाराष्ट्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस प्रकार से महाराज की सरकार कार्य कर रही है वह दर्शाता है कि प्रेस की स्वतंत्रता खतरे में है साथ ही अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी आपातकाल के दिनों को भी याद करने पर मजबूर करती है भाजपा के नेताओं द्वारा दिए गए बयानों के बाद शिवसेना के नेता सा राज्य सभा सांसद संजय रावत ने पलटवार करते हुए कहा कि अरनव गोस्वामी पर जो कार्रवाई की गई है वह बदले की भावना से नहीं बल्कि पूर्व के एक मामले में हुई है बता दें कि रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी हाल कि कुछ दिनों से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर लगातार निशाना साध रहे थे यहां तब और तेज हो गया जब सुशांत सिंह के आत्महत्या मामले ने तूल पकड़ लिया.

Advertisement

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि महाराष्ट्र में प्रेस की स्वतंत्रता पर इस हमले की हम कड़ी निंदा करते हैं या फासीवाद कदम अघोषित आपातकाल का संकेत देता है पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर हमला करना सत्ता के दुरुपयोग का एक उदाहरण है हम सभी को भारत के लोकतंत्र पर इस हमले के खिलाफ खड़ा होना चाहिए

बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के नेता सुशील कुमार मोदी ने भी अनु गोस्वामी की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा की यह मीडिया की आवाज दबाने की कोशिश की गई है सुशील मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा अर्नब गोस्वामी के गिरफ्तारी मीडिया में राष्ट्रवादी आवाज को दबाने की एक चाल है कांग्रेस की आपातकालीन मानसिकता अभी भी बनी हुई है

मोदी सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अर्णब गोस्वामी के गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा किया स्वतंत्रता हिलने की कोशिश की गई है प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला है प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट करते हुए कहा हम महाराष्ट्र में प्रेस स्वतंत्रता पर हमले की निंदा करते हैं या प्रेस के साथ व्यवहार करने का तरीका नहीं है यह हमें उन आपातकालीन दिनों की याद दिलाता है जब प्रेस के साथ इस तरह से व्यवहार किया गया था

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी अरनव की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं स्मृति ईरानी ने भी ट्वीट कर कहा कि स्वतंत्र प्रेस में जो लोग आज अरनव के समर्थन में नहीं खड़े हैं वे फासीवाद के समर्थन में है आप उसे पसंद नहीं कर सकते आप उसे स्वीकार नहीं कर सकते आप उसके अस्तित्व को तो समझ सकते हैं लेकिन अगर आप चुप रहते हैं तो आप दमन का समर्थन करते हैं

अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर एडिटर्स गिल ऑफ इंडिया ने भी अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की निंदा की है उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के सीएम यह सुनिश्चित करें की अर्नब गोस्वामी के साथ उचित व्यवहार किया जाए और मीडिया द्वारा महत्वपूर्ण रिपोर्टिंग के खिलाफ राज्य की शक्ति का उपयोग नहीं किया जाए.

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख मीडिया से अरनव की गिरफ्तारी पर कहा कि पत्रकार अर्णव गोस्वामी की गिरफ्तारी महाराष्ट्र पुलिस ने कानून के हिसाब से किया है इसमें सरकार का कोई रोल नहीं है

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches