china

अरुणाचल प्रदेश से सटे भूटान में चीन ने बसाया गाँव, बॉर्डर पर तेजी से गतिविधियों को बढ़ा रहा है Arunachal Pradesh

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

Arunachal Pradesh: चीन के द्वारा भारत की सीमाओं पर लगातार घुसपैठ करने की कोशिश है की जा रही है. तिब्बत पर कब्जा जमाए बैठे चीन अपनी पकड़ लगातार मजबूत कर रहा है साथ ही उसकी नजर तिब्बत सीमा से लगने वाले दूसरे देशों पर है. चीन तिब्बत के भारत, भूटान और नेपाल सीमा से लगे दूरदराज के गांवों में इंफ्रास्ट्रक्चर तेजी से बढ़ा रहा है.

Advertisement

भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य की सीमा से सटे इलाकों में भी चीन ने हलचल बढ़ा दी है और वहां कई महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े काम कर रहा है ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने दावा किया है कि चीन ने भूटान के 8 किलोमीटर अंदर ग्यालाफुगा नाम के एक गांव बसा लिया है वहां पर चीन ने सड़कें इमारतें और पुलिस स्टेशन और आर्मी बेस कैंप तक बना लिया है. इस गांव में पावर प्लांट गोदाम और कम्युनिटी पार्टी ऑफ चाइना का कार्यालय भी खोल लिया है. चीनी सैनिकों ने यहां एक बड़ा बैनर टांग दिया है इस पर लिखा है सी जिनपिंग पर विश्वास बनाए रखें रिपोर्ट के मुताबिक चीन के कब्जे वाले गांव में 100 से ज्यादा लोग और इतनी ही संख्या में याक मौजूद हैं यह इलाका भारत के अरुणाचल प्रदेश से लगा हुआ है

भूटान के इस जमीन पर कब्जा करके छीन 1998 के समझौते का उल्लंघन कर रहा है चीन ने इस कदम से भूटान के लोगों में निराशा बढ़ा रही है. रिपोर्ट के मुताबिक 1980 में चीन का जो नक्शा था उसमें ग्यालाफुगा को भूटान के अंदर ही दिखाया गया था भूटान घाटी में चीन 2015 से ही इस हरकत को अंजाम दे रहा है चीन ने 2015 में ऐलान किया था कि वह तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के दक्षिण में ग्यालाफुगा गांव बस आ रहा है लेकिन यह गांव भूटान में पड़ता है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches