Skip to content
delhi police

ट्रैक्टर रैली हिंसा के मामले के साथ फेक न्यूज़ मामले की जांच अब क्राइम ब्रांच करेगी

tnkstaff

नई दिल्ली: राजधानी नई दिल्ली में 26 जनवरी को हुए मामले के दौरान कुछ पत्रकारों के फेक न्यूज़ फैलाने के मामले में दिल्ली पुलिस की मध्य जिले में स्थित आईपी एस्टेट थाने में दर्ज मामले की जांच अब क्राइम ब्रांच करेगी उस मामले में पुलिस ने सांसद शशि थरूर और पत्रकार राजदीप सरदेसाई समेत कई पत्रकारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

Advertisement

आईपी एस्टेट थाने में चिरंजीव कुमार नया शिकायत दर्ज किया कि 26 जनवरी को किसानों के दौरान निकाली गई ट्रैक्टर रैली में एक किसान की मौत आईटीओ पर ही हो गई थी सूचना के मुताबिक आरोप इतने लोगों को यह बताने की कोशिश की की किसान की मृत्यु पुलिस की गोली से हुई है और यह भी कहा गया है कि केंद्र सरकार के इशारे पर उसे मारा गया है इन लोगों के ट्वीट को बड़ी संख्या में लोगों के द्वारा रिट्वीट किया गया है जिसकी वजह से लोगों में नाराजगी फैल गई और उन्होंने हिंसा की है.

शिकायत में यह भी कहा गया है कि इस तरह के बयान देकर लोगों ने हालात को और भी खराब किया और उनके मैसेज को आगे भेज कर लोगों को भड़काया गया है!
बल्कि सच तो यह है कि किसान की मौत पुलिस की गोली लगने से नहीं बल्कि सड़क दुर्घटना में हुई थी पुलिस ने एक वीडियो के जरिए पूरी घटना को पुष्टि की थी!

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches