Skip to content
EVvp5-0U8AArbIR

भारत के इतिहास में पहली बार घर पर पढ़ा जायेगा तरावीह की नमाज़, मुख़्तार अब्बास नकवी ने दिए आदेश

News Desk

भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा की मुस्लिम समुदाय का सबसे पवित्र महीना रमजान घर पर ही गुजरेगा। कोरोना महामारी से बचने के लिए केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने सभी वक्फ बोर्ड को निर्देश दिया है. कोरोना महामारी की वजह से मंदिर, गिरिजाघर, गुरुद्वारा सभी धार्मिक स्थल बंद है. कोरोना की रोकथाम के लिए शारीरिक दुरी सबसे जरुरी है. सभी वक्फ बोर्ड ने मिलकर यह फैसला लिया है.

Advertisement

Also Read: झारखण्ड के बाहर फंसे लोगो के लिए हेमंत सरकार द्वारा जारी किया गया एप

केंद्रीय मंत्री नकवी से चर्चा के बाद सभी वक्फ बोर्ड ने अपने अंदर आने वाले मस्जिदों पर इबादतगाहों को इसका निर्देश दिया है. रमजान का पाक महीना 24 अप्रैल से शुरू हो रहा है. पिछले एक सप्ताह से मंत्री नकवी सबसे बात कर रहे थे.

मालूम हो की रमजान के पुरे महीने में लोगो रोजा रखते है और प्रत्येक दिन रोजा खोलने के बाद तरावीह की नमाज मस्जिदों में अदा करते है. इसमें कुरान पुरे महीने सुनायी जाती है. लोग मस्जिदों में इकट्ठा होकर तरावीह को सुनते है.

Also Read: IAS आदित्य रंजन ने बनाया CO-BOT, कोरोना मरीजों को खाना और दवा पहुंचाएगा कोबोट

पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर मुस्लिम समुदाय के बीच ये अफवाह फैलाया जा रहा था आइसोलेशन सेण्टर में उन्हें प्रताड़ित किया जाता है. नकवी ने सभी वक्फ बोर्ड और मुस्लिम धर्म गुरुओ से कहा की इस अफवाह को फैलने से रोके साथ ही हमारी सुरक्षा में लगे स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी अपनी जान खतरे में डाल कर कोरोना से लड़ रहे है हमने उनका पूरा सहयोग करना है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches