Skip to content

Jharkhand: छत्तीसगढ़ और झारखंड में ईसाईयों पर हुए हमले को लेकर निकला विरोध मार्च, कांग्रेस MLA शिल्पी नेहा तिर्की भी हुई शामिल

Shah Ahmad

Jharkhand: झारखंड में ईसाइयों पर कथित हमले और पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में एक चर्च में तोड़फोड़ के विरोध में रांची में ईसाई समुदाय के सैकड़ों लोग रविवार को सड़कों पर उतर आए।

Advertisement

झारखंड क्रिश्चियन यूथ एसोसिएशन (JCYA) के तत्वावधान में पुरुषों और महिलाओं ने यहां जीईएल चर्च परिसर से मोराबादी मैदान तक रैली निकाली. तख्तियों पर “चर्चों पर हमले बंद करो” और “धर्म के नाम पर बांटना बंद करो” जैसे संदेश थे।

यह दावा किया गया कि पिछले महीने झारखंड के गढ़वा जिले में क्रिसमस की तैयारी के दौरान दूसरे समुदाय के द्वारा ईसाई समुदाय के कुछ लोगों को निशाना बनाया गया था और उनके साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया था. प्रदर्शनकारियों ने झारखंड सरकार से राज्य में शांति सुनिश्चित करने का आग्रह किया है।

Jharkhand: मांडर MLA शिल्पी नेहा तिर्की और पूर्व विधायक बंधू तिर्की ने रैली में हुए शामिल कहा, कुछ ताकतें धर्म के नाम पर देश को बांटना चाहती हैं

रैली में कांग्रेस विधायक शिल्पी नेहा तिर्की और मांडर के पूर्व विधायक बंधु तिर्की ने हिस्सा लिया। उन्होंने कहा, ‘देश में कुछ ताकतें धर्म के नाम पर देश को बांटना चाहती हैं। हमारी रैली ऐसी ताकतों के खिलाफ है.

Also Read: Droupadi Murmu: राजस्थान की महिला इंजीनियर को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का पैर छूना पड़ा भारी, राज्य सरकार ने किया सस्पेंड

जेसीवाईए के अध्यक्ष कुलदीप तिर्की ने कहा, ”इस रैली का उद्देश्य छत्तीसगढ़ और झारखंड में ईसाइयों पर हमले के खिलाफ अपना विरोध जताना था। हम दोनों राज्यों की सरकारों से शांति सुनिश्चित करने और समुदाय को सुरक्षा प्रदान करने की मांग करते हैं। बता दें कि बीते 2 जनवरी को छत्तीसगढ़ के नारायणपुर शहर में एक कथित धर्म परिवर्तन के संबंध में आदिवासियों के विरोध के दौरान एक चर्च में तोड़फोड़ की गई और एक आईपीएस अधिकारी सहित छह पुलिसकर्मियों पर हमला किया गया और घायल कर दिया गया।

ईसाईयों पर हुए हमले को लेकर पूर्व विधायक बंधू तिर्की ने कहा “छत्तीसगढ़ की घटना में जांच की प्रगति बहुत धीमी है और बहुत कम दोषियों को गिरफ्तार किया गया है।” सरकार को जल्द से जल्द जाँच करवा कर दोषियों को सजा दिलानी चाहिए.

Leave a Reply