Skip to content
rakesh tikait
Advertisement

पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम में 13 को महापंचायत करेंगे राकेश टिकैत, BJP को वोट नहीं देने की करेंगे अपील

tnkstaff

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठन 100 दिनों से अधिक समय से आंदोलन कर रहे हैं. लेकिन किसान संगठनों के द्वारा अब आंदोलन को दिल्ली के बॉर्डर आंदोलन को अब चुनावी राज्यों में लेकर जाने की तैयारी है.

किसान नेता अब उन राज्यों में किसान महापंचायत करेंगे जहां इस महीने और अगले महीने चुनाव होने वाले हैं. इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत की तरफ से बड़ा बयान दिया गया है जिसमें उन्होंने कहा है कि 13 मार्च को वह पश्चिम बंगाल जाने वाले हैं जहां से वे नंदीग्राम और कोलकाता में महापंचायत करेंगे.

राकेश टिकैत ने कहा कि नंदीग्राम और कोलकाता में महापंचायत करेंगे और वहां के किसानों से बात करेंगे और पूछेंगे कि क्या उन्हें एमएसपी मिल रहा है. उसका लाभ कभी मिला है वहां सभी चीजों पर चर्चा करेंगे. टिकैत ने कहा कि वह 13 मार्च को कोलकाता जाएंगे और वहीं से निर्णायक संघर्ष का बिगुल फूकेंगे.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात को लेकर का राकेश टिकैत ने कहा कि उनसे मिलने का कोई कार्यक्रम नहीं है. हम केवल वहां कृषि कानूनों पर बात करने के लिए जा रहे हैं. इससे पूर्व भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष बलवीर सिंह राजेवाल ने गुरुवार को कहा है कि किसानों के विरोध के 105 दिन हो गए हमने कई टीमों का गठन करने का फैसला किया है जो उन पांच राज्यों का दौरा करेंगी जहां चुनाव होने वाली है. एक अपील की जाएगी कि लोग बीजेपी को नहीं बल्कि किसी को भी वोट दे सकते हैं.

राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि देश के किसान भाजपा की नीतियों से त्रस्त है वह पश्चिम बंगाल के किसानों से चुनाव पर चर्चा करेंगे और भाजपा को वोट नहीं देने का लोगों से आग्रह करेंगे. राकेश टिकैत ने साफ कर दिया है कि वह किसी भी दल के पक्ष में अपील या किसी का समर्थन बिल्कुल नहीं करेंगे लेकिन उन्होंने यह भी कहा है कि वह लोगों से अपील करेंगे कि वह भाजपा को वोट ना दें.

Leave a Reply