शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने फिर दोहराया 1932 खतियान की बात, कहा झारखंडी कौन यह 1932 का खतियान तय करेगा

सूबे के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने एक बार फिर राज्य में 1932 का खतियान लागू करने के पक्ष में अपनी बात राखी है. मंत्री ने कहा कि हेमंत सरकार ने पहली कैबिनेट में ही तय कर दिया है कि तीन सदस्यीय कमिटी ही स्थानीय नीति के प्रारूप तय करेंगे।

अपना पक्ष रखते हुए कह दिया है कि 1932 खतियान को प्राथमिकता दिया जाए , साथ ही 1952 में सम्पन्न हुए पहले आम चुनाव में जिसका वोटर लिस्ट में नाम है उसको भी झारखंडी माना जा सकता है।

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

हेमंत सरकार को 2019 के विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत के साथ सत्ता तक पहुँचाने में स्थानीय निती ही सबसे बड़ा हथियार साबित हुआ है. इस मुद्दे पर दो वर्षों तक विधानसभा की कार्यवाही बाधित रही और विपक्ष में रहते हुए जेएमएम के विधायकों ने सदन चलने नहीं दिया था। पार्टी ने इसे चुनाव मुद्दा बनाया और अप्रत्याशित सफलता हासिल की।

Also Read: कोरोना से मरे दो लोगो के अंतिम संस्कार के दौरान स्थानीय लोगो ने पुलिस पर किया पथराव

रघुवर दास की सरकार ने स्थानीय नीति की घोषणा की थी, जिसमें 1985 को झारखंडी का आधार बनाया गया था। इसके तहत वैसे झारखंड के निवासी, जो व्यापार, नियोजन एवं अन्य कारणों से झारखंड राज्य में विगत 30 वर्ष या उससे अधिक समय से निवास करते हों एवं अचल संपत्ति अर्जित की हो या ऐसे व्यक्ति की पत्नी, पति या संतान हो। ऐसे आधे दर्जन प्रावधानों को शामिल किया गया था, जिसके तहत स्थानीय का दावा पेश किया जा सकता था।

कोरोना से मरे दो लोगो के अंतिम संस्कार के दौरान स्थानीय लोगो ने पुलिस पर किया पथराव

शनिवार को टीएमएच में कोरोना संक्रमण से साकची की 88 साल की एक महिला व सोनारी खूंटाडीह के 71 साल के बुजुर्ग की मौत हाे गई थी। पहले से ही तय था कि भुइयांडीह सुवर्णरेखा बर्निंग घाट में शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। परन्तु लोगों के विरोध को देखते हुए कल से ही प्रशासन ने घाट के आसपास सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कर दिया था।

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

भुइयांडीह चौक, जयप्रकाश नारायण बस टर्मिनल व घाट के समीप मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात किया गया था। सभी काे पीपीई कीट उपलब्ध कराई गई। मृत दाेनाें मरीजाें का अंतिम संस्कार सुवर्णरेखा बर्निंग घाट पर करने की सूचना पर आसपास के लाेगाें ने सड़क पर उतर कर शनिवार को भी विरोध किया था।

रविवार को कोरोना पॉजिटिव दो मृत लोगों का अंतिम संस्कार करने के विरोध में काफी संख्या में लोग जुट गए। पुलिस-प्रशासन की टीम और लोगों के बीच हंगामा शुरू हो गया। इस बीच लोगों ने पथराव तक कर दिया।

पथराव में महिला पुलिस जवान समेत दो अन्य लोग घायल हो गए। वहीं, पुलिस ने दर्जन भर लोगों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने किसी तरह लोगों को समझाकर मामला शांत कराया और शवों का अंतिम संस्कार किया गया।

आज से 7 जुलाई तक पुरे राज्य में भारी बारिश के आसार, वज्रपात से बचने की जरुरत

झारखंड में रविवार से 7 जुलाई तक बारिश के आसार हैं। भारतीय माैसम केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार सात जुलाई तक पूरे झारखंड में लगातार बारिश हो सकती है। इस दाैरान गर्जन के साथ वज्रपात की भी चेतावनी जारी की गई है।

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

राज्य के कई जिलों में सुबह से ही बादल छाए हुए है. ठंडी हवा भी चल रही है. पिछले तीन दिनों से राज्य में भारी बारिश नहीं होने व तेज धूप की वजह से गर्मी में इजाफा महसूस किया जा रहा है। जिसके बाद रविवार से सुबह से लोगो को थोडी राहत मिलनी शुरू हुई है. दोपहर 12:30 बजे से राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश होना शुरू हो चूका है.

विधायक प्रदीप यादव ने PM को पत्र लिखकर अडानी पावर के निर्माण कार्य में जुटी चीनी कंपनी का अनुबंध रद्द करने की मांग की है

भारत-चीन सीमा विवाद में भारत के 20 जवान शहीद होने के बाद पुरे भारत में चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए है. केंद्र की मोदी सरकार द्वारा 59 चीनी एप्स पर भारत में प्रतिबंध लगाये जाने के बाद अब चीनी कंपनी से सभी तरह के संबंध तोड़ लेने की मांग देशभर में उठ रहे हैं।

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

विधायक प्रदीप यादव ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर चीनी कंपनियों का अनुबंध रद्द करने की मांग की है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि सेप्को-3 नाम की चीनी कंपनी अडानी पावर के निर्माण कार्य में जुटी है। इस कंपनी के 95 चाईनीज वर्कर और अन्य चाईनीज वर्कर्स अडानी पावर के साथ जुड़े हैं, जो अडानी के 1600 मेगावाट ताप विद्युत परियोजना में कार्यरत हैं। उन्होंने कहा है कि राष्ट्रहित में चीनी कंपनी को अविलम्ब हटाकर स्वदेशी प्रेम और देश के लिए एक मिशाल पेश की जानी चाहिए।

Also Read: JAC कक्षा 11वीं का रिजल्ट हुआ जारी, ऐसे देखे अपना रिजल्ट

प्रदीप यादव ने आगे अपने पत्र में कहा कि अगर चीनी कंपनियों की जगह स्वदेशी कंपनी को मौक दिया जाता तो स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार मिल पता. चीनी कंपनी हमारी छाती पर बैठकर काम कर रहे है लेकिन हमारे लोग बेरोजगार बैठे है.

बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

सोमवार 6 जुलाई से सावन माह शुरू हो रहा है. लेकिन इतिहास में पहली बार ऐसा होगा कि सावन के महीने में श्रद्धालु न तो बाबा बैद्यनाथ को उत्तरवाहिनी का जल चढ़ा पायेंगे और न ही उनका दर्शन कर पायेंगे। ऐसा इसलिए हो रहा है क्यूंकि कोरोना महामारी रुकने का नाम नहीं ले रहा है.

झारखंड सरकार और हाईकोर्ट ने बाबा बैद्यनाथ मंदिर और बासुकिनाथ मंदिर को बंद रखने का आदेश दिया है. भक्त अब सिर्फ बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे।

Also Read: JAC कक्षा 11वीं का रिजल्ट हुआ जारी, ऐसे देखे अपना रिजल्ट

देवघर की उपायुक्त नैंसी सहाय ने बताया कि सावन के महीने में मंदिर और आसपास श्रद्धालुओं का प्रवेश निषेध है. सीमाओं को सील कर दिया गया है. जगह-जगह चेकपोस्ट बनाये गये हैं ताकि किसी भी वाहन का प्रवेश शहर में नहीं हो सके.

देवघर और दुमका की डीसी ने बताया कि बाबा बैद्यनाथ मंदिर और बासुकिनाथ मंदिर में सुबह की सरकारी पूजा और शाम का श्रृंगार दर्शन का ही ऑनलाइन दर्शन भक्त कर पायेंगे. इसके लिए झारखंड सरकार ने विभिन्न टीवी चैनलों, सोशल मीडिया, वेबपेज आदि पर प्रसारण की व्यवस्था की है.

भक्त बाबा का दर्शन ऑनलाइन झारखंड सरकार का टीवी चैनल JharGovTV, दूरदर्शन समेत अन्य टीवी चैनलों को प्रसारण की स्वीकृति दी गयी है.

परबतपुर कॉल ब्लॉक के मुख्य द्वार पर मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठे रैयत…..

परबतपुर कॉल ब्लॉक के मुख्य द्वार पर पिछले पाँच सालों से बेरोजगार हुए रैयत अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे हुए हैं। 29 जून से अब तक स्थानीय रैयतों द्वारा धरना जारी है। रैयतों का कहना है कि हमने अपने और अपने पीढ़ियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए अमूल्य भू-भाग को कॉल ब्लॉक के लिए दिया, लेकिन कम्पनी एवं नियति के जाल में फँसकर हमारी जिंदगी ही बेकार हो गयी।

Also Read: BJP प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने हेमंत सरकार को बताया “मुंगेरी लाल के हसीन सपने” दिखाने वाली सरकार

झारखंड मुक्ति मोर्चा चंदनकियारी के पूर्व प्रत्याशी विजय रजवार ने स्थानीय रैयतों द्वारा दिए जा रहे धरने को अपना समर्थन दिया। मौके पर पहुँच कर उन्होंने कहा कि जब तक कॉल ब्लॉक से प्रभावित और मुआवजे से वंचित रैयतों को उनका हक नहीं मिल जाता है तब तक धरना जारी रहेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कॉल ब्लॉक प्रशासन रैयतों के साथ पिछले 5 सालों से अन्याय कर रही है। उन्होंने ये भी कहा कि अगर 5 जुलाई से पहले रैयतों के साथ एक सफल वार्ता यदि हो जाती है तो बेहतर होगा। परन्तु वार्ता सफल नहीं होती है तो झामुमो हमेशा से जल-जमीन-जंगल की लड़ाई लड़ते आ रही है। इस बार भी इस आंदोलन को पार्टी स्तर पर किया जाएगा। मौके पर वरीय कार्यकर्ता अशोक दशौन्धी एवं महेश्वर रजवार भी शामिल रहें।

Also Read: बिहार विधानसभा में 12 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी में झामुमो, राजद गठबंधन का होगा हिस्सा

कांग्रेस का हमला, पूछा मजबूत भारत के PM चीन से आँख में आँख डाल कर कब बात करेंगे?

pm modi

भारत और चीन के बीच तनाव बना हुआ है. चीन से बॉर्डर पर जारी तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार सुबह लेह पहुंचे. पीएम मोदी का ये दौरा अचानक था, जिससे हर कोई चौंक गया. इस बीच कांग्रेस ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है

Also Read:आतंकी मुठभेड़ में झारखंड का लाल शहीद, CM हेमंत सोरेन ने शहीद जवान को किया नमन

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए पूछा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चीन का नाम लेने से गुरेज क्यों है. साथ ही सुरजेवाला ने यह भी सवाल किया है कि चीन से आंख में आंख डाल कब बात होगी. सुरजेवाला ने कहा है कि आखिर मजबूत भारत के प्रधानमंत्री इतने कमजोर क्यों हैं.

दरअसल, गलवान घाटी में चीन के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद से ही कांग्रेस के जरिए लगातार पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा जा रहा है. इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी पीएम मोदी की ओर से चीन का नाम नहीं लेने पर हमला बोल चुके हैं.

Also Read: जम्मू-कश्मीर के सोपोर में CRPF की पेट्रोलिंग टीम पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद

चीन का नाम तक नहीं लेते

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि भारत सुपर पावर है, मगर देश के प्रधानमंत्री चीन का नाम तक नहीं लेते हैं. यह जानते हुए कि चीन हमारे सिर पर आकर बैठा है, आखिर क्या वजह है कि प्रधानमंत्री के मुंह से चीन शब्द नहीं निकलता है. देश की सीमा पर जो हालात हैं, वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताने चाहिए.

आतंकी मुठभेड़ में झारखंड का लाल शहीद, CM हेमंत सोरेन ने शहीद जवान को किया नमन

गुरुवार रात श्रीनगर के मलबाग क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया। इस दौरान सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया और एक जवान जख्मी हुआ है। जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में आतंकियों से लोहा लेते हुए झारखण्ड के लाल सीआरपीएफ जवान कुलदीप उरांव शहीद हो गए। कुलदीप साहिबगंज जिले के जिरवाबड़ी थाना के रहने वाले थे.

अधिकारियों के अनुसार गुरुवार रात करीब 10:15 बजे सुरक्षाबलों का एक गश्तीदल नियमित गश्त पर मलबाग के जकूरा इलाके से गुजर रहा था। इसी दौरान जवानों को वहां एक स्कूल के पास कुछ संदिग्ध गतिविधियां दिखीं। जवानों ने जैसे ही उस तरफ बढऩा शुरू किया, वहां छिपे आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी।

झारखंड के वीर सपूत के श्रीनगर मुठभेड़ में शहीद होने पर सीएम हेमंत सोरेन ने शोक जताया है। मुख्‍यमंत्री ने वीर जवान की आत्‍मा की शांति और परिजनों को दुख की घड़ी में सांत्‍वना दी है। सीएम ने शुक्रवार को अपने ट्वीट में लिखा- जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में आतंकियों से लोहा लेते हुए झारखण्ड के लाल सीआरपीएफ जवान कुलदीप उरांव शहीद हो गए। परमात्मा शहीद कुलदीप जी की आत्मा को शांति प्रदान कर परिवार जनों को दुःख की घड़ी सहन करने की शक्ति दे।