Skip to content

भाजपा के पूर्व विधायक जयप्रकाश वर्मा आज बीजेपी छोड़, थाम सकते हैं झामुमो का दामन

zabazshoaib

भारतीय जनता पार्टी के नेता और गांडेय के पूर्व विधायक जयप्रकाश वर्मा आज भाजपा छोड़ झारखंड मुक्ति मोर्चा का दामन थाम सकते हैं. झारखंड में चल रही सियासी घमासान के बीच या खबर जहां झामुमो के लिए राहत भरी है वही इसे बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है. पार्टी से नाराज चल रहे पूर्व विधायक को जेएमएम ने मोह लिया है अब जल्द ही केसरिया से हरा चोला ओढ़ लेगें.

भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी के गृह जिले से आने वाले प्रो. जयप्रकाश वर्मा पिछले कई दिनों से भाजपा में खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे थे. चर्चा यह भी है कि कोडरमा की सांसद अन्नपूर्णा देवी के केंद्रीय मंत्री बनने के बाद से वे खुद को हाशिए पर महसूस कर रहे थे. उनकी मर्जी के विरुद्ध यहां संगठन का विस्तार किया जाता रहा. समर्पित कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई. इस विषय को लेकर वह सांसद अन्नपूर्णा देवी और बाद में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी से भी मिले लेकिन उनकी बातें नहीं सुनी गई.

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और पूर्व सांसद रवींद्र राय के कहने पर उन्हें भाजपा की सदस्यता ली थी. पार्टी ने उन्हें विधानसभा से उम्मीदवार बनाया था. 2015 में वे विधायक बने 2019 के चुनाव में उन्हें काफी मुश्किल से पार्टी से टिकट मिला. जिले में कई बड़े नेताओं की भीतरी घात से इन्हें हार का सामना करना पड़ा था.

बतादें की जनसंघ काल के दिग्गज नेता स्वर्गीय जगदीश प्रसाद कुशवाहा के पुत्र, कोडरमा लोकसभा सीट पर 6 बार सांसद रहे स्वर्गीय रीतलाल प्रसाद वर्मा के भतीजे हैं प्रो. जयप्रकाश वर्मा.

Leave a Reply