NRC के विरोध में जेडयू कार्यालय के सामने युवा राजद का प्रदर्शन, हवन कर दर्ज किया विरोध

Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on telegram
Share on reddit

नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बिहार में सियासत गरमा गयी है. यूथ आरजेडी के नेताओं ने नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ पटना स्थित जेडीयू दफ्तर के सामने पहुंच गये और प्रदर्शन किया. साथ ही जेडीयू के संविधान की प्रतियां भी जलायीं.

जानकारी के मुताबिक, यूथ आरजेडी के नेताओं ने नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में शनिवार को राजधानी पटना स्थित जेडीयू कार्यालय के बाहर पहुंच कर जमकर हंगामा किया. जेडीयू के संविधान में ‘धर्मनिरपेक्ष’ शब्द को लेकर आपत्ति जताते हुए यूथ आरजेडी के नेताओं ने नागरिकता संशोधन बिल का जेडीयू द्वारा समर्थन दिये जाने पर जेडीयू के संविधान को जलाया और हवन किया. मालूम हो कि संसद में जेडीयू द्वारा नागरिकता संशोधन बिल को समर्थन दिये जाने के बाद विपक्षी पार्टियां हमलावर हैं. यूथ आरजेडी द्वारा जेडीयू का संविधान हवन किये जाने के दौरान जेडीयू कार्यालय में कई पार्टी नेता मौजूद थे. लेकिन, उन्होंने यूथ आरजेडी के नेताओं द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन का विरोध नहीं किया. कार्यालय में मौजूद पार्टी विधायक ने कहा कि हमारे नेता ने काफी सोच-समझकर फैसला लिया है. अगले चुनाव में आरजेडी खुद स्वाहा हो जायेगी. वहीं, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के नेताओं ने कहा कि पार्टी नेतृत्व फैसला बिलकुल सही है. नागरिकता संशोधन बिल अल्पसंख्यकों के विरोध में नहीं है.

आरजेडी ने 21 दिसंबर को बिहार बंद का किया है आह्वान

आरजेडी ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में 21 दिसंबर को बिहार बंद का आह्वान करते हुए आरोप लगाया कि इसने संविधान की धज्जियां उड़ा दी हैं. लालू प्रसाद के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने इसकी घोषणा की. उन्होंने ”संविधान और न्याय के सिद्धांत में विश्वास रखनेवाले” सभी राजनीतिक और गैर-राजनीतिक संगठनों से बंद में भाग लेने की अपील की है. बंद की तारीख पहले 22 दिसंबर निर्धारित की गयी थी, लेकिन बाद में इसे एक दिन पहले कर दिया गया, ताकि अगले रविवार को होनेवाली पुलिस भर्ती परीक्षा प्रभावित ना हो.

Also Read: प्रशांत किशोर बोले- अब भारत की आत्मा को बचाने की जिम्मेदारी गैर भाजपा मुख्यमंत्रियों की

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा है कि, ”संविधान की धज्जियां उड़ानेवाले नागरिकता संशोधन विधेयक जैसे काले कानून के खिलाफ राष्ट्रीय जनता दल 22 दिसंबर, रविवार को ‘बिहार बंद’ करेगा. हम सभी संविधान प्रेमी, न्यायप्रिय, धर्मनिरपेक्ष दलों, गैर-राजनीतिक संगठनों और आम जनमानस से अपील करते है कि वे बढ़-चढ़ कर इसे सफल बनाने में सहयोग दें.”

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इसके बाद एक और ट्वीट कर बंद की तारीख में सुधार किया. उन्होंने ट्वीट किया, ”सुधार- बिहार बंद 21 दिसंबर, शनिवार को रहेगा] क्योंकि 22 दिसंबर को बिहार पुलिस बहाली की परीक्षा है1 नौजवानों और परीक्षार्थियों को बिहार बंद के चलते परीक्षा स्थल पर पहुंचने में किसी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं हो, इसलिए बिहार बंद अब शनिवार, 21 दिसंबर को रहेगा.”

Leave a Reply

In The News

पूर्व की रघुवर सरकार में गठित ग्राम विकास समितियों की फंडिंग पर रोक, खर्च नहीं की गयी राशि होगी वापस

पूर्व की रघुवर सरकार द्वारा पंचायत स्तर पर दो तरह की ग्राम विकास समितियों का गठन किया गया था. आदिवासी…

बालू पर बोले कुणाल षाड़ंगी कहा, NGT के आदेश का पालन नहीं कर रही है राज्य सरकार

झारखंड भाजपा के नवनियुक्त प्रवक्ता और पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने राज्य की हेमंत सरकार पर बालू के अवैध कारोबार…

स्थानीय बेरोजगार और बाहरी मालामाल ऐसा नहीं चलेगा - विधायक अंबा प्रसाद

हज़ारीबाग जिले के बड़कगांव में एनटीपीसी और त्रिवेणी कंपनी के खिलाफ लम्बे समय से स्थानीय लोग विस्थापन की लड़ाई लड़…

लालू यादव का भी होगा कोरोना टेस्ट, सुरक्षा में तैनात पुलिस का जवान मिला था कोरोना पॉजिटिव

रिम्स में इलाजरत राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की सुरक्षा में तैनात पुलिस का जवान कोरोना पॉजिटिव पाया गया है वह…

लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में तैनात ASI पाया गया कोरोना पॉजिटिव, भेजा गया क्वॉरेंटाइन सेंटर

राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे है. उनकी स्वास्थ्य स्थिति को…

विकास दुबे पर ढाई लाख का इनाम, पुलिस ने कहा सही जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने सोमवार को न्यूज एजेंसी को बताया कि, ‘विकास दुबे पर अब ढाई लाख…

Get notified Subscribe To The News Khazana

Follow Us

Popular Topics

Trending

Related News