भारत में प्रत्येक उपयोगकर्ता प्रत्येक महिने 11.2GB डेटा का कन्‍जूयम करता है, जानिए पूरी रिपोर्ट

Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on telegram
Share on reddit

सस्ता डेटा और किफायती दरों पर स्मार्टफोन कि शुरूआत के साथ भारत ने डेटा खपत सख्या में बहुत बड़ा उछाल आया है. यदि हम अपने आप को देखे कि हम इस मामले में कहां खडे है तो हमारे पास एक रिपोर्ट है. हर साल नोकिया भारत के डेटा खपत पैटर्न का सर्वेक्षण करता है और उन्हें मोबाइल ब्रॉडबैंड इंडिया टैफिक इंडेक्स रिपोर्ट में प्रकाशित करता है.

Also Read: दो दिवसीय दौरे पर बांग्लादेश जा सकते है मोदी, शेख हसीना से करेंगे मुलाकात

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि भारत में प्रत्येक उपयोगकर्ता प्रत्येक महिने 11.2GB डेटा का कन्‍जूयम करता है जिसमें उपयोगकर्ता 80 % डेटा वीडियो देखने में कन्जूयम करता है.साल दर साल, भारत में कुल डेटा खपत 47% बढ़ी जिसमें 4G ने 96% का योगदान दिया. वहीं 3G डेटा की खपत 30 % तक गिर गई और 2G डेटा अब बिलकुल शून्य है. डाटा खपत में इतनी उछाल के पीछे सबसे बड़ा कारण है कि 4G डेटा का सरलता से मिलना जो कि पूरे विश्व में सबसे सस्ता है.

Also Read: अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में भारत की जीडीपी की वृद्धि दर 4.7% रही

भारत में 4G हैडसेट की सख्या डेढ़ गुना बढ़ने से सख्या 501 मिलियन हो गई, जिसमे 430 मिलियन LTE ही सक्षम थे. साल 2015 से 2019 की बीच भारत के डेटा ट्रेफिक में 44 गुना की बृद्धि हुई है जो दुनिया में सबसे अधिक है..इस डेटा बृद्धि में Youtube ने वीडियो खपत का नेतृत्व किया उसके बाद Hotstar और JioTV. वहीं इसके बाद 30 से अधिक OTT प्लेटफार्म को मान्यता दी गई, जो प्रत्येक दिन वीडियो सामग्री की खपत पर खर्च किए गए 70 मिनट के औसत के लिए अनुवादित थे. इसके बाद इंटरनेट ब्राउजिंग और सोशल मीडिया का सहारा लिया गया

Leave a Reply

In The News

क्या आपके खाते में नहीं आए PM किसान की छठी किस्त? इस फोन नंबर पर कॉल कर पता करें

सरकार ने 10 करोड़ किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 2,000 रुपये की रकम किसानो के…

WhatsApp से होगा गैस सिलेंडर बुक, ऐसे करें गैस बुकिंग

News Desk: भारत पेट्रोलियम (BPCL) ने अब अपनी सेवाएं डिजिटल कर ली हैं. अब आप अपने मोबाइल फ़ोन से व्हाट्स…

PM मोदी ने 8 लाख किसानो को भेजे 17,000 करोड़ रुपये, कृषि निवेश कोष का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कोरोनोवायरस संकट के बीच कृषि क्षेत्र को प्रोत्साहन देने के लिए 1 लाख करोड़…

कमर्शियल माइनिंग के खिलाफ हो रहे विरोध के बाद बैकफुट पर केंद्र सरकार, 41 कोल ब्लॉक की नीलामी टली

देशभर में आत्मनिर्भर भारत के तहत होने वाली 41 कोल ब्लॉक की नीलामी को केंद्र सरकार ने स्थगित कर दिया…

BSNL का धमाका: निजी कंपनियों को टक्कर देने के लिए "BSNL ने लॉन्च किया FIBER"

भारत में इंटरनेट के बढ़ती मांग को देखते हुए और निजी कंपनियों को टक्कर देने के लिए सरकारी टेलिकॉम कंपनी…

कॉमर्शियल माइनिंग के खिलाफ 18 अगस्त को मजदूर संगठनो का हड़ताल

देशभर में कोरोना महामारी की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण देश और राज्यों की अर्थव्यवस्था की हालत पूरी तरह…

Get notified Subscribe To The News Khazana

Follow Us

Popular Topics

Trending

Related News

जोहार 😊

Popular Searches