Skip to content
thumbnail_optimized

साल के अंत से पहले लोगो तक पहुँच सकती है कोरोना वैक्सीन, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के पहले फेज का ट्रायल सफल

News Desk

कोरोना महामारी से इस वक्त पूरा विश्व जूझ रहा है. हर कोई इस बात को जानने के लिए उत्सुक है की कोरोना का वैक्सीन कब लोगो तक पहुंचेगा। इसी कड़ी से जुडी एक बड़ी खबर सामने आयी है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में चल रहे कोरोना वायरस वैक्सीन ट्रायल का पहला चरण सफल रहा है.

Advertisement

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्सीन के इंसानों पर किए गए ट्रायल के पहले फेज के रिजल्ट सोमवार को आए. जानकारों ने ट्रायल के परिणामो को बहुत महत्वपूर्ण कदम बताया है और उम्मीद जाहिर की है कि साल खत्म होने से पहले वैक्सीन लोगों तक पहुंच सकती है. ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी ने 23 अप्रैल को कोरोना वायरस वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया था. 1077 स्वस्थ ब्रिटिश लोगों को वैक्सीन की खुराक दी गईं. इनमें से आखिरी व्यक्ति को वैक्सीन की खुराक 21 मई को दी गई. ये ट्रायल अभी जारी है, लेकिन अब तक मौजूद नतीजे जारी कर दिए गए हैं.

ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन की स्टडी के प्रमुख जांचकर्ता प्रो. एन्ड्रू पोलैर्ड ने कहा कि रिजल्ट बेहद उत्साहवर्धक हैं. वैक्सीन बनाने में सफलता हासिल करने की दिशा में ये एक बहुत महत्वपूर्ण कदम है. वैक्सीन की खुराक दिए जाने के 28 दिन बाद 91 फीसदी लोगों में एंटीबॉडीज मिलीं। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैन्कॉक ने वैक्सीन के नतीजों का स्वागत करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस अब ‘बैक फुट’ पर आ गया है. हालांकि, उन्होंने कहा कि जब तक जांच में वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित नहीं समझी जाती तब तक आम लोगों के लिए मंजूरी नहीं दी जाएगी।

मैट हैन्कॉक ने कहा कि जितनी जल्दी वैक्सीन को लेकर सबकुछ साबित हो जाता है, यह आम लोगों के लिए उपलब्ध हो जाएगी. वहीं, ब्रिटेन के व्यापार मंत्री आलोक शर्मा ने कहा है कि अगर ट्रायल पूरी तरह सफल रहता है तो ब्रिटेन पहला देश होगा जहां आम लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध होगी।

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches