Skip to content
IMG-20200331-WA0003.jpg

रिम्स के डॉक्टरों ने कहा, कोरोना पॉजीटिव युवती में नहीं है कोरोना के लक्षण फिर भी रिपोर्ट पॉजीटिव

News Desk

झारखंड में जैसे ही मीडिया में खबर आयी की रांची में ठहरी एक 22 वर्षीय युवती की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आयी है खबर आग की तरह फ़ैल गयी. युवती निजामुद्दीन मरकज़ से जुडी हुई है और वो रांची जमात में शामिल होने आयी थी, युवती मूल रूप से मलेशिया की रहने वाली है. लेकिन रिम्स के डॉक्टरों द्वारा जो तथ्य दिया जा रहा है वो लोगो को हज़म नहीं हो रहा है.

Advertisement

झारखंड में कोरोना की इंट्री हो गई है. रांची के हिंदपीढ़ी इलाके के मस्जिद से सोमवार को 18 विदेशियों समेत 24 लोगों को पुलिस ने बरामद किया था, जिसके बाद सभी को क्‍वारंटाइन के लिए खेलगांव में शिफ्ट किया गया था. जहां से सभी के सैंपल जांच के लिए लिया गया था. जांच के बाद एक युवती कोरोना पॉजिटिव पाई गई. जानकारी के अनुसार 22 वर्षीय कोरोना संक्रमित युवती मलेशिया की रहने वाली है और तबलीगी जमात में धर्म प्रचार के लिए भारत आई हुई थी. जमात के अन्‍य लोगों के साथ हिंदपीढ़ी स्थिति मस्जिद से सभी को पुलिस ने निकालकर क्‍वारंटाइन के लिए भेजा था.

रिम्‍स के डॉक्‍टर के अनुसार अचंभित करने वाली बात यह है कि युवती में कोरोना के कोई भी लक्षण नहीं पाये गये, फिर भी युवती कोरोना पॉजिटिव पाई गई. यह एक चिंता का विषय है. वहीं कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद पूरे हिंदपीढ़ी इलाके को लॉकडाउन कर दिया गया है. भारी संख्‍या में इलाके में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है. वहीं रांची के डीसी, एसएसपी ने लोगों से लॉकडाउन का सख्‍ती से पालन करने की अपील की है. साथ ही सोशल मीडिया पर फैले अफवाहों पर ध्‍यान नहीं देने की अपील की है. वहीं किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर हेल्‍पलाइन नंबर पर संपर्क करने की अपील की गई है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches