Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

झारखण्ड मुक्ति मोर्चा कोडरमा जिला की झुमरी तिलैया नगर अध्यक्ष ने उपायुक्त को पत्र लिख कर बिजली और पेयजल की समस्याओं को दूर करने का आग्रह किया गया.

झारखंड में पेयजल और बिजली की स्थिति किस कदर लचर है ये किसी से छुपी नहीं है. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बिजली व्यवस्था को ठीक करने के लिए पूरी तैयारी कर रहे है. सीएम हेमंत सोरेन ने बिजली की स्थिति को ठीक करने के लिए अधिकारियो को दिशा-निर्देश दिए गए है. इसे लेकर अधिकारी भी रेस है. सरकार बिजली को लेकर कितनी गंभीर है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है की मुख्यमंत्री की गैर-मौजूदगी में मुख्य सचिव डीके तिवारी ने छुट्टी के दिन रविवार को बैठक कर अधिकारियो को बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिए जरुरी दिशा निर्देश दिए.

Also Read: कोडरमा में ठप हो सकती है जलापूर्ति – जानिए क्या है इसकी मुख्य वजह

झामुमो कोडरमा जिला की झुमरी तिलैया नगर कमिटी के अध्यक्ष दीपक विश्वकर्मा ने उपायुक्त को पत्रकर लिख कर आग्रह किया की झुमरी तिलैया नगर क्षेत्र में विगत 10 दिनों से बिजली और पेयजल की नियमित आपूर्ति नहीं हो रही है. श्री विश्वकर्मा ने कार्यपालक अभियंता पर आरोप लगाते हुए कहा की ये सब कार्यपालक अभियंता की लापरवाही के कारण हो रहा है.

आगे उन्होंने कहा की नगर क्षेत्र के लोगो चापाकल व अन्य स्रोतों से जल का सेवन कर रहे है जिससे कई बीमारियों का शिकार हो सकते है. यहाँ के कार्यपालक पदाधिकारी और अन्य पदाधिकारी सरकार की किर-किरी करवाना चाहते है. इसलिए उपायुक्त महोदय से आग्रह है इस विषय की ओर विशेष ध्यान दे और समस्या का समाधान करे.

Also Read: हेमंत सोरेन ने दिया आदेश डीके तिवारी ने की बैठक कहा- रांची सहित पुरे राज्य में निर्बाध बिजली सुनिश्चित करें अधिकारी

Leave a Reply