Skip to content
Advertisement

Jharkhand News: झारखंड में मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून की जरूरत: समन्वय समिति

News Desk

Jharkhand News: रांची में मोराबादी स्थित झामुमो सुप्रीमो और राज्यसभा सांसद शिबू सोरेन के आवास पर शनिवार को झारखंड राज्य समन्वय समिति की बैठक हुई. इस बैठक में सरना धर्म कोड, ओबीसी आरक्षण, मॉब लिंचिंग कानून, ऊर्जा के क्षेत्र में राज्य को आत्मनिर्भर बनाने, खासमहल की जमीन पर वर्षों से रह रहे लोगों की समस्याओं के निष्पादन सहित बैठक में 12 मुद्दों पर बृहद रूप से चर्चा हुई. इसके साथ ही समिति में लिए फैसले से सरकार को अवगत कराने का फैसला लिया गया. झारखंड राज्य कोआर्डिनेशन कमेटी की बैठक में यह फैसला लिया गया कि सरना धर्म कोड को लागू करने के लिए केंद्र सरकार से दोबारा आग्रह किया जाएगा. इस मुद्दे पर राष्ट्रपति से भी मिलने के लिए समय की मांग की जाएगी. जिससे कोआर्डिनेशन कमेटी के सदस्य राष्ट्रपति से मुलाकात कर देश भर के आदिवासियों की भावना से उन्हें अवगत करा सकें.

झारखंड राज्य समन्वय समिति के आमंत्रित सदस्य और ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा है कि राज्य में मॉब लिंचिंग कानून की जरूरत को देखते हुए इस पर विशेष चर्चा बैठक में हुई. यह फैसला लिया गया है कि कुछ संशोधन के साथ फिर से विधानसभा से पारित कराकर विधेयक दोबारा राज्यपाल को भेजा जाएगा ताकि यह कानून का रूप में ले सके. इसी तरह जमीन की रसीद और राजस्व को लेकर बैठक में चर्चा हुई खासमहल की जमीन पर वर्षों से बसे लोगों को उस जमीन का मालिकाना हक मिले. इसके लिए एक विशेष नीति बनाने का आग्रह झारखंड सरकार से किया.

Jharkhand News: समन्वय समिति ने दिया सरकार को सुझाव

बैठक में विपक्ष के नेता नहीं रहने के कारण जिन आयोगों का गठन नहीं हो पा रहा है उसके लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था निकालने का सुझाव दिया गया राज्य में बिजली की पर्याप्त आपूर्ति के लिए टीवीएनएल के विस्तारीकरण का सुझाव दिया गया. समिति के सदस्यों के जिला भ्रमण के दौरान अधिकारियों से सहयोग देने के निर्देश देने की मांग की गई. समिति ने सरकार को यह परामर्श दिया है कि जिन परियोजनाओं के लिए जमीन का अधिग्रहण किया गया है तो रही है तो रैयतों को अभिलंब उसका लाभ दिया जाए. विस्थापितों को मदद के लिए जिलों में गठित समिति की बैठक को हर 3 महीने में अनिवार्य रूप से करवाया जाए.

Jharkhand News: बैठक में रही इनकी उपस्थिति


बैठक में आमंत्रित सदस्यों के रूप में राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम और श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता भी उपस्थित रहे. इसके अलावा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की, विधायक सरफराज आलम, फागु बेसरा, विनोद पांडे और योगेंद्र महतो भी शामिल हुए.

Also read: Jharkhand News: झारखंड भाजपा के नेताओं में एकजुटता नहीं, चुनाव से पहले एकजुट करने की कोशिश

Advertisement
Jharkhand News: झारखंड में मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून की जरूरत: समन्वय समिति 1