Skip to content
bihar-gaya

नितीश सरकार के खिलाफ स्वास्थ्य कर्मियों का विरोध प्रदर्शन, लगाए कई आरोप

News Desk

बिहार में नितीश कुमार कि सरकार स्वास्थ्य कर्मियों को वादा करके भूल गई है. नितीश कुमार कि सरकार ने स्वास्थ्य कर्मियों से वादा किया था कि कोरोना महामारी के दौरान उन्हें प्रोत्साहन राशि दी जाएगी साथ ही भोजन के लिए 350 रुपए भुगतान कि बात भी कही थी लेकिन 5 महीने बाद भी वादा पूरा नहीं कर पाई है.

Advertisement

Also Read: बिहार में कोरोना जाँच से खुश नहीं PM मोदी, कहा जाँच में तेजी लाने कि जरुरत

स्वास्थ्य कर्मियों की क्या है मांग:

बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के बैनर तले आज गया जिला के मानपुर के स्वास्थ्य कर्मियों ने सरकार के खिलाफ अपनी मांगो को लेकर जमकर विरोध किया। स्वास्थ्य कर्मचारियों ने सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बीच कई वादे किये गए लेकिन एक भी वादा पूरा नहीं किया गया. कोरोना काल में प्रोत्साहन राशि और भोजन के लिए राशि देने की बात कही गई थी परन्तु पांच महीने बीत जाने के बाद भी राशि नहीं मिल पाई है.

Also Read: बिहार में स्वास्थ्य सुविधाओं का बुरा हाल, कोरोना जाँच के लिए 8 घंटे भूखे प्यासे लोग खड़े रहे

भोजन भत्ता भी नहीं दिया जा रहा है:

स्वास्थ्य कर्मियों ने अपनी विभिन्न मांगो को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कर्मियों ने कहा सरकार कि ओर से भोजन के लिए अतिरिक्त 350 रूपये देने की बाटत कही गई लेकिन सरकार के द्वारा अब तक भुगतान नहीं किया गया है. प्रदर्शन कर रहे कर्मियों ने कहा है कि यदि सरकार हमारी मांगो को जल्द से जल्द पूरी नहीं करती है तो उग्र आंदोलन किया जायेगा।

Also Read: राष्ट्रपति पुतिन का दावा रूस ने बना ली कोरोना वैक्सीन, पुतिन की बेटी को दिया गया पहला डोज

कोरोना जाँच करवाने से अधिकारी करते है मना:

प्रदर्शन कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों ने कहा कि सीएम और डीएम के कार्यालय में काम करने वालो कि कोरोना जाँच होती है लेकिन हमारी नहीं। हम जब अपनी जाँच करवाने जाते है तो या कहते है तो प्रखंड विकास पदाधिकारी और चिकित्सा प्रभारी मना कर देते है. वे कहते है कि ऊपर से स्वास्थ्य कर्मियो के कोरोना टेस्ट करवाने का आदेश नहीं आया है. ऐसी बातो को कहते हुए हमारी बातो को टाल जाते है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches