20200811_135650

बिहार में स्वास्थ्य सुविधाओं का बुरा हाल, कोरोना जाँच के लिए 8 घंटे भूखे प्यासे लोग खड़े रहे

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

बिहार में स्वास्थ्य सुविधाओं का हाल किस कदर ख़राब है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कोरोना जाँच के लिए भूखे-प्यासे लोगो को आठ घंटे खड़ा रहना पड़ा. इतना ही नहीं इससे भी बड़ी लापरवाही तब सामने आई जब बिना जाँच किए मोबाइल पर जाँच की सुचना आ गई.

Advertisement

Also Read: सुब्रमण्यम स्वामी का सुशांत केस में बड़ा बयान, कहा सुशांत का पैर टूटा हुआ था

कहाँ का है मामला:

मामला सोमवार का है जब, बिहार के भागलपुर जिले के सदर अस्पताल में तक़रीबन दर्जन भर से अधिक लोग कोरोना की जाँच कराने के लिए गए थे. अस्पताल के आउटडोर के पास जाँच कराने के लिए लोगो की भीड़ बढ़ती गई. शाम के 4 बजे तक भी कतार में लगे लोगो की जाँच नहीं हो पाई थी.शाम के तक़रीबन 5 बजे तक जाँच के लिए सैंपल नहीं लिया गया था. भूखे-प्यासे खड़े रहने के बाद लोगो के सब्र का बांध टुटा और सिविल सर्जन कार्यालय के सामने हंगामा करने लगे. अस्पताल प्रबधन कि तरफ से हंगामा करने के बाद सैंपल लिया गया.

Also Read: एक हज़ार रूपये में मिल रही थी कोरोना की फर्जी रिपोर्ट, पॉजिटिव को नेगेटिव करने का चल रहा था खेल

बिना जाँच कराए लौट गए लोग:

मिली जानकारी के अनुसार तकनीशियन के देरी से पहुँचने के कारण सैंपल लेने में देरी हुई थी. तकनीशियन कि तैनाती कई प्रखंडो में हो रही है जिस वजह से देरी होती है. तकनीशियन देर से आने के कारण कई लोग बिना जाँच करावे ही वापस लौट गए. इसके अलावा एक अन्य घटना सामने आई. कोरोना जाँच के लिए कई लोगो कि सैंपल लिया ही नहीं गया था उस वक्त उनके मोबाइल में जाँच होने का मैसेज आ गया था. इस तरह की घटना बिहार के स्वास्थ्य विभाग कि पोल खोलती है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches