Skip to content
Advertisement

ED के समक्ष पेश होने से पहले सीएम Hemant Soren ने ED के कार्य और देश की भाजपा की नियत पर उठाए सवाल

Advertisement
ED के समक्ष पेश होने से पहले सीएम Hemant Soren ने ED के कार्य और देश की भाजपा की नियत पर उठाए सवाल 1

Ranchi : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren

Advertisement
Advertisement
) ने अपने आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भाजपा पर कई तरह का आरोप लगाऐ. बताते चलें कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने आज पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश होने से पहले केंद्र की सत्ताधारी भाजपा एवं गवर्नर रमेश बैस पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि ये लोग और भी सत्ताधारी विधायकों पर छापा मारने जा रहे हैं. उन्होंने राज्यपाल की निष्पक्षता पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस पद को पार्टी से परे माना जाता है, लेकिन लगता है कि वे षडयंत्रकारी राजनीति व दलों को संरक्षण दे रहे हैं।हेेमंत सोरेन से आज खनन लीज मामले में पूछताछ करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे भारत सरकार से कहना चाहते हैं कि गिट्टी-बालू को केंद्र सरकार मेजर मिनरल में शामिल कर ले और लोहा-कोयला को माइनर मिनरल में शामिल कर राज्य के जिम्मे कर दे.

उन्होंने कहा कि राज्यपाल को चुनाव आयोग ने महीनों पहले अपना मंतव्य दे चुका है, लेकिन वे उसका खुलासा करने के लिए लगता है कि एक वक्त का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब उनका पटाखा फोड़ने का बयान आता है तो धड़ाधड़ छापेमारी शुरू हो जाती है.

हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि देश की मीडिया में यह खबर चली कि राज्यपाल ने चुनाव आयोग से दूसरा मंतव्य मांगा है. यह असंवैधानिक है.

उन्होंने कहा कि जब हमने चुनाव आयोग से पूछा तो उन्होंने दूसरा मंतव्य मांगे जाने की खबर से इनकार किया. सोरेन ने कहा कि हमारी सरकार के कार्यकाल में रेवेन्यू बढा है और आप पिछली सरकार के कार्यकाल को देखें। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास की एक लंबी लकीर खींची जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार पर राज्य के जनमानस का विश्वास बढा है और विपक्ष हाशिये पर जा चुका है. इसी का परिणाम है कि देश की भाजपा सरकार अपने विपक्षियों को देश के संवैधानिक संस्थाओं के माध्यम से परेशान करने का काम करती है और जनता द्वारा चुनी गई राज्य सरकारों को गिराने का काम कर रही है.