bjp-jmm

मुख्यमंत्री के बयान से खफा हुई BJP, चुनाव आयोग से की गई शिकायत- CM के प्रचार को रोकने की मांग

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखंड के 2 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं ऐसे में पक्ष और विपक्ष दोनों ही तरफ से जुबानी हमला तेज हो चुका है दुमका विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बसंत सोरेन को अपना प्रत्याशी बनाया है वहीं भाजपा की तरफ से पूर्व मंत्री और 2019 में भी विधानसभा चुनाव लड़ चुकी लुईस मरांडी को अपना प्रत्याशी बनाया गया है. दुमका में एक सभा को संबोधित करते हुए सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भाजपा को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिसके बाद भाजपा हमलावर हो चुकी हैं मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में कहा था कि चुनाव के बाद भाजपाइयों को लाठी डंडे से खदेडेगा.

Advertisement

Also Read: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भाजपा पर बोला हमला कहा, लॉकडाउन में मुंह छुपाने वाले मांग रहे हैं हिसाब

मुख्यमंत्री के द्वारा दिए गए इस बयान के बाद भाजपा ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है भाजपा की तरफ से की गई शिकायत में चुनाव आयोग को कहा गया है कि मुख्यमंत्री के द्वारा दिया गया बयान बेहद शर्मनाक है मुख्यमंत्री के इस बयान से ना सिर्फ भाजपा के कार्यकर्ता बल्कि आम जनता भी भयभीत है किसी राज्य का मुख्यमंत्री चुनाव के बाद खुलेआम हिंसा फैलाने की बात कर रहा है भाजपा की तरफ से चुनाव आयोग से मांग करते हुए कहा गया है कि सीएम के चुनाव प्रचार पर रोक लगाई जाए.

मुख्यमंत्री के इस बयान के पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने पलटवार करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के द्वारा दिया गया बयान अमर्यादित एवं लोकतंत्र के खिलाफ है उनके बयान से साफ पता चलता है कि वह हिंसा भड़काने की कोशिश कर रहे हैं. दोनों उपचुनाव में महागठबंधन की करारी हार को देखते हुए सीएम बौखला गए हैं और अपना आपा खो बैठे हैं इसी वजह से वह भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं को लाठी-डंडे से खदेड़ने की बात कर रहे हैं क्योंकि उन्हें मालूम है कि भाजपा के लोग उन्हें शिकस्त देने जा रहे हैं

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches