Hemant and Basant Soren

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भाजपा पर बोला हमला कहा, लॉकडाउन में मुंह छुपाने वाले मांग रहे हैं हिसाब

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखंड के 2 विधानसभा सीटों पर आने वाले 3 नवंबर को मतदान होंगे मुख्यमंत्री बनने के बाद हेमंत सोरेन ने दुमका विधानसभा सीट को छोड़ दिया था जिस वजह से उस सीट पर उपचुनाव हो रहे हैं वहां झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बसंत सोरेन को अपना प्रत्याशी बनाया है वही बोकारो के बेरमो विधानसभा क्षेत्र के विधायक रहे राजेंद्र सिंह की मृत्यु हो जाने के कारण वहां विधानसभा का उपचुनाव हो रहा है राजेंद्र सिंह की सीट पर कांग्रेस पार्टी की तरफ से उनके बड़े बेटे कुमार जय मंगल उर्फ अनूप सिंह को प्रत्याशी बनाया गया है दोनों विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन प्रचार करने के लिए चुनावी मैदान में उतर चुके हैं

Advertisement

Also Read: CM ने कहा राज्य में फैक्ट्री लगाने वाले 75% नौकरी स्थानीय लोगों को देगे- जल्द आयेगा कानून

आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका विधानसभा में बसंत सोरेन के लिए सभा करते हुए भाजपा पर तीखा हमला किया है सीएम ने कहा कि दिल्ली में बैठी भाजपा की सरकार ऐसी नीतियां बना रही है जिसकी वजह से राज्य के भीतर हमारे किसानों को आने वाले दिनों में तकलीफों का सामना करना पड़ेगा केंद्र सरकार के द्वारा कृषि क्षेत्र को निजीकरण की ओर ले जाया जा रहा है यदि यह लागू होता है तो गरीब किसान अपनी ही खेतों में बंधुआ मजदूर की तरह काम करेगा. भाजपा की इन्हीं नीतियों की वजह से देश की स्थिति कठिन दौर से गुजर रही है मुख्यमंत्री ने जनता से आग्रह करते हुए कहा की उपचुनाव में भी हमारा साथ देकर राज्य से भाजपा को उखाड़ने में हमारी सहयोग करें

Also Read: चाय की चुस्की के साथ CM सोरेन कर रहे प्रचार, कहा बोरो प्लेयर से भाजपा कराती है प्रचार

दुमका में सभा को संबोधित करने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बेरमो के चंद्रपुरा में कांग्रेस के प्रत्याशी अनूप सिंह के लिए सभा करने पहुंचे जहां उन्होंने जमकर भाजपा को आड़े हाथों लिया मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में राज के भाजपा नेताओं सहित केंद्र सरकार को भी जमकर फटकार लगाई मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि जिस वक्त लोग डाउन हुआ था उस समय केंद्र सरकार की तरफ से आम जनता के लिए कोई भी मदद नहीं की गई थी लोग सैकड़ों किलोमीटर तक पैदल चल कर अपने घर पहुंचे थे लेकिन भाजपा का कोई भी नेता सड़कों पर नहीं दिखाई दिया था उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता लोग डाउन के दौरान अपने घरों में दुबक कर बैठे हुए थे जबकि हमारी सरकार अपनी जनता को लाने के लिए जद्दोजहद कर रही थी और हमने लेह लद्दाख जैसे इलाकों से भी राज्य के लोगों को वापस लाया लेकिन भाजपा के नेता के आंखों से लोक डाउन के दौरान लोगों की होरी तकलीफों के लिए आंसू भी ना निकला.

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण के दौरान कहा किलोग्राम होने की वजह से राज्य में बनी हमारी सरकार को कार्य करने का अधिक अवसर नहीं मिल पाया है स्थितियां सामान्य हो रही है और हमारे काम में भी तेजी आ रही है उपचुनाव खत्म होने के बाद राज्य सरकार के द्वारा कई ऐसी योजनाएं हैं जो जनता के कल्याण के लिए लाई जाएंगी.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches