hemant soren

Free Vaccination: केंद्र सरकार और कंपनियों ने पूरा नहीं किया वादा, झारखंड में 18 से 44 वर्ष वालों के टीकाकरण पर ग्रहण

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket
Free Vaccination: झारखंड में 1 मई 2021 से 18 वर्ष से लेकर 44 वर्ष आयु नागरिकों को टीकाकरण नि:शुल्क देने का निर्णय राज्य सरकार के द्वारा लिया गया है. नि:शुल्क टीकाकरण को लेकर युवा वर्ग में काफी उत्साह देखा जा रहा है. झारखंड में रजिस्ट्रेशन के पहले ही दिन रिकॉर्ड संख्या में इस आयु वर्ग के लोगों ने वैक्सीन लेने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है लेकिन अब इस वैक्सीनेशन पर संकट के बादल छाते नजर आ रहे हैं.
Advertisement

झारखंड में वैक्सीन का इंतजाम अभी तक नहीं हो पाया है जिस कारण से 1 मई से इनका टीकाकरण शुरू नहीं हो पाएगा. राज्य को गुरुवार तक ना तो कंपनियों के द्वारा और ना ही केंद्र सरकार के द्वारा पूर्व में 45 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों के लिए उपलब्ध कराई गई वैक्सीन का इस्तेमाल 18 से 44 वर्ष के नागरिकों के लिए करने की अनुमति मिली है. शुक्रवार को कंपनियों से वैक्सीन उपलब्ध होने की उम्मीद नहीं है ऐसे में तय है कि 1 मई से इस आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू नहीं हो पाएगा.

Also Read: केंद्र सरकार को लेकर हाई कोर्ट की तल्ख टिप्पणी कहा, ऐसा लगता है कि केंद्र चाहता है लोग मरते रहें

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि 18 से 44 वर्ष के नागरिकों को मुफ्त टीकाकरण की तैयारी पूरी कर ली गई है. वैक्सीन उपलब्ध होने पर इस आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू हो जाएगा. वहीं, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार ने 2,229 केंद्रों पर टीकाकरण की तैयारी की है. लेकिन वैक्सीन नहीं मिलने के कारण 1 मई से टीकाकरण शुरू नहीं हो पा रहा है. कंपनियों ने 15 मई के बाद ही वैक्सीन उपलब्ध कराने की बात कही है वैक्सीन मिलते ही टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा.

Also Read: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा वैक्सीन की कीमतों के पीछे क्या है आधार और तर्क

18 से लेकर 44 वर्ष के लोगों के टीकाकरण पर सवाल उठा रहा है इसके साथ ही 45 साल के ऊपर वाले को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. 45 साल से ऊपर लोगों के साथ-साथ हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए केंद्र सरकार की तरफ से भेजी जा रही वैक्सीन में लगातार कमी आ रही है. माना जा रहा है कि राज्यों के पास जो स्टॉक बचा है वह मुश्किल से दो-तीन दिन ही चल पाएगा यानि केंद्र सरकार को उससे पहले ही नई खेप पहुंचानी होगी. ऐसा नहीं हुआ तो कई जगहों पर टीकाकरण रुक सकता है

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches