Skip to content

सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने झारखंड के अतिथि देवो भव: की परंपरा को बढ़ाया आगे, PM मोदी ने पीठ थपथपाते हुए सराहा

Arti Agarwal

CM Hemant Soren: झारखंड की संस्कृति व सभ्यता संपूर्ण देश और विश्व में सराही जाती है। इसकी सांस्कृतिक कलाएँ हो अथवा नैतिक मूल्य हो, भारत के विभिन्न राज्यों के लोग इसकी ओर आकर्षित रहते हैं। “अतिथि देवो भवः” की परम्परा झारखंड की उन सशक्त विचारों में से है जो झारखंड के नैतिक मूल्यों को और भी प्रबल बनाते है और उसको नए-नए कीर्तिमान प्राप्त करवाते है।

Advertisement

झारखंड के लिए 12 जुलाई 2022 का दिन बड़ा ही ऐतिहासिक रहा. इस दिन झारखंड को दूसरा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की सौगात मिली. साल 2012 में देवघर एयरपोर्ट निर्माण को लेकर शिलान्यास का कार्यक्रम किया गया था. इस कार्यक्रम में वर्तमान में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उस वक्त बतौर उपमुख्यमंत्री कार्यक्रम में शामिल हुए थे. उस समय केंद्र में यूपीए की सरकार थी और मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे जबकि राज्य के मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा और उपमुख्यमंत्री हेमंत सोरेन थे. साल 2012 में शिलान्यास हुए देवघर एयरपोर्ट का उद्घाटन 2022 में हुआ है और इस कार्यक्रम में हेमंत सोरेन बतौर मुख्यमंत्री उपस्थित हुए. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के लिए इसे महज एक संयोग माने या फिर अपने छुटे हुए काम को मुख्यमंत्री बनने के बाद तेज़ी से करवा कर जनता को समर्पित करने की इच्छा शक्ति इसका निष्कर्ष आप खुद निकालें.

सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने झारखंड के अतिथि देवो भव: की परंपरा को बढ़ाया आगे, PM मोदी ने पीठ थपथपाते हुए सराहा 1

PM मोदी ने CM हेमंत सोरेन की थपथपाई पीठ, कहा- झारखंड तेज़ी से आगे बढ़ रहा हैं:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है. तस्वीर में साफ देखा जा सकता है कि प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पीठ थपथपाते हुए उन्हें सराहा है. दरअसल, देवघर एयरपोर्ट उद्घाटन कार्यक्रम समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी पटना के लिए रवाना हो रहे थे तभी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उन्हें धन्यवाद किया जिस पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी पीठ थपथपाते हुए सराहना कर कहा कि झारखंड तेजी से आगे बढ़ रहा है. विकास के कार्यों को और तेजी से आगे लेकर जाएं. केंद्र और राज्य मिलकर बेहतर कार्य कर सकते हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जिस आदिवासी समुदाय से आते हैं  उस समुदाय में अतिथियों को भगवान के रूप में देखा जाता है उनका स्वागत और तिरस्कार ईश्वर के रूप में किया जाता है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी झारखंड की इस परंपरा और संस्कृति को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का स्वागत और अभिवादन किया है. जिसकी चर्चा पूरे झारखंड सहित देशभर में हो रही है.

इसे पढ़े- झारखंड सचिवालय के इन पदों पर निकली भर्ती, झारखंडी युवाओं को नौकरी पाने का मौका

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अपने विरोधियों को भी कैसे अपना मुरीद बनाते हैं यह किसी से छिपा नहीं है. शालीनता और हंसमुख स्वभाव के धनी हेमंत सोरेन अपने चित परिचित अंदाज के लिए जाने जाते हैं. झारखंड की संस्कृति और परंपरा को ना केवल राज्य तक सीमित रखते हैं बल्कि वह जहां भी जाते हैं अपनी पहचान और अपनी संस्कृति को विश्व पटल पर रखने का प्रयास करते हैं ताकि अपनी परंपरा और विरासत का प्रचार-प्रसार हो सके. यही कारण है कि पीएम मोदी भी हेमन्त सोरेन की सराहना करने से खुद को नहीं रोक पाए.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और तेलंगाना के सीएम केसीआर भी है हेमंत सोरेन के कायल:

राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और तेलंगाना के सीएम केसीआर भी झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सरल स्वभाव और उनके गुणों के कायल हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जिन से भी मिलते हैं उन्हें अपना कायल बना लेते हैं. ऐसा बहुत ही कम होता है की एक क्षेत्रीय पार्टी के नेता को राष्ट्रीय पार्टी के नेताओं और विरोधी दलों के नेताओं के द्वारा भी उतना ही प्यार और सम्मान दिया जाता है जितना उन्हें मिलना चाहिए. हाल ही में एक तस्वीर सामने आई थी जब लालू प्रसाद यादव को पटना से दिल्ली के लिए एयर एंबुलेंस के जरिए ले जाया जा रहा था. लालू प्रसाद यादव दिल्ली एयरपोर्ट पर जब पहुंचे थे उसी वक्त मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी दिल्ली एयरपोर्ट पर मौजूद थे उन्हें जैसे ही मालूम चला वे लालू प्रसाद यादव से मुलाकात और उनका स्वस्थ जानने के लिए रनवे पर पहुंच गए और उनका हालचाल जाना.  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इसी दरियादिली के कारण वह झारखंड सहित पुरे देश में सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं. साथ ही अन्य राज्यों और पूरे देश में उन्हें एक कुशल नेतृत्व का नेता माना जाता है.

सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने झारखंड के अतिथि देवो भव: की परंपरा को बढ़ाया आगे, PM मोदी ने पीठ थपथपाते हुए सराहा 2

तेलंगाना के सीएम केसीआर जब झारखंड आए थे तो उनका भी अभिवादन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बड़े ही जोरदार तरीके से किया था. केसीआर ने उस वक्त कहा था कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सरल और मृदुभाषी स्वभाव के धनी हैं यदि उनके जैसा नेता प्रत्येक राज्य में मौजूद हो तो इस देश के रुख को बदलने की ताकत रखते हैं. केसीआर ने आगे कहा था कि हेमंत सोरेन की सोच और उनके विचारों की जितनी सराहना की जाए उतनी कम है. वह अपने प्रदेश की संस्कृति को लेकर आगे बढ़ना चाहते हैं साथ ही विकास के नए आयामों को छूना चाहते हैं. तेलंगाना कि सरकार से जो भी सहयोग उन्हें चाहिए होगा हम उन्हें उपलब्ध करवाएंगे हम मिलकर आगे बढ़ेंगे ताकि देश और अपने राज्यों को मजबूत किया जा सके.

सीएम हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने झारखंड के अतिथि देवो भव: की परंपरा को बढ़ाया आगे, PM मोदी ने पीठ थपथपाते हुए सराहा 3

साल 2019 विधानसभा चुनाव से पूर्व झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पूरे झारखंड में दो यात्राएं निकाल थी जिन्हें संघर्ष यात्रा और बदलाव यात्रा का नाम दिया था इन दोनों प्रदेश स्तरीय कार्यक्रमों में राज्य के हर वर्ग के लोग उनसे तेजी से जुड़े और खासकर युवा वर्ग उनका मुरीद होता चला गया. नतीजा यह है कि आज झारखंड के सबसे लोकप्रिय नेता के रूप में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अपनी पहचान बना चुके हैं इनके लोकप्रियता के आगे दूर-दूर तक कोई दिखाई नहीं दे रहा है. हालांकि, भाजपा ने बाबूलाल मरांडी को आगे करके आदिवासी कार्ड खेला है परंतु झारखंड की जनता ने हेमंत सोरेन के मुख्यमंत्री बनने के बाद हुए 4 उपचुनाव में भाजपा को करारी शिकस्त देकर एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि झारखंड के सबसे लोकप्रिय नेता और मजबूत सरकार देने में हेमंत सोरेन सक्षम है.

इसे पढ़े- मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने जामताड़ा को दी 200 करोड़ की सौगात, कहा- जो 20 वर्षों में नहीं हुआ वो 2 साल में हुआ है

Leave a Reply