Skip to content
Advertisement

Dhanbad: भाजपा विधायक के बेटे ने की आत्महत्या, वजह जान हो जायेंगे हैरान

Advertisement
Dhanbad: भाजपा विधायक के बेटे ने की आत्महत्या, वजह जान हो जायेंगे हैरान 1

Dhanbad News: झारखंड के धनबाद जिले के सिंदरी विधानसभा से भाजपा के विधायक इंद्रजीत (Inderjit Mahato MLA) महतो के बेटे ने सोमवार को आत्महत्या कर ली है. पुलिस पुरे मामलें की जाँच में जुटी हुई है.

Advertisement
Advertisement

रांची में सिंदरी विधायक इंद्रजीत महतो के बड़े बेटे विवेक कुमार महतो ने सोमवार को आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंची और घटनास्थल का जायजा लिया। आत्महत्या करने के पीछे क्या वजह रही है अब तक पता नहीं चला।

वहीं, पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्यमार्टम के लिए भेजा। इसके साथ ही मामले की तफ्तीश में जुट गई। बताया जा रहा है कि विधायक इंद्रजीत महतो का बड़ा बेटा विवेक कुमार महतो सिल्ली अपने किसी करीबी मित्र के यहां आया हुआ था. उसने वहीं रविवार की सुबह लगभग 10 बजे जहर खा लिया.

Also Read: Jharkhand Niyojan Niti: मुख्यमंत्री नियोजन नीति पर राज्य के युवाओं से मांग रहे राय

जहर खाने की जानकारी मिलते ही उसे आनन-फानन में सिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहां स्थिति नहीं सम्भलने पर उसे देर शाम बरियातू स्थित मेडिका अस्पताल में शिफ्ट किया गया था. यहीं उसकी मौत इलाज के दौरान हो गई. पोस्टमार्टम के बाद शव अंतिम संस्कार के लिए धनबाद के बलियापुर स्थित उनके आवास पर ले जाया जाएगा.

Dhanbad News: कई दिनों से तनाव में था विवेक, परीक्षा में पास नहीं होने पर उठाया यह कदम

जानकारी के अनुसार विधायक इंद्रजीत महतो का बड़ा बेटा विवेक महतो गेट परीक्षा की तैयारी कर रहा था. उसने बीटेक की पढ़ाई की थी और एमटेक की पढ़ाई के लिए एडमिशन की तैयारी कर रहा था. बताया जा रहा है कि वह दिल्ली से परीक्षा देकर लौटा था और उस परीक्षा में वह पास नही हो सका था.

वहीं सिंदरी विधायक इंद्रजीत महतो पिछले दो साल से हैदराबाद में इलाजरत हैं. मधुपुर उपचुनाव में प्रचार के दौरान वे कोरोना संक्रमित हुए थे. जिसके बाद उनकी स्थिति गंभीर होती चली गयी. 12 अप्रैल 2021 को विधायक इंद्रजीत महतो को धनबाद के एशियन जालान अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यहां इलाज के दौरान चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए बाहर ले जाने की सलाह दी थी. उनका आक्सीजन लेबल भी नीचे आ गया था. इसके बाद 17 अप्रैल 2021 को एयरलिफ्ट कर उन्हें हैदराबाद भेजा गया। तब से वे वहीं इलाजरत हैं.