furkan ansari and rpn singh

पूर्व सांसद फुरकान अंसारी ने आरपीएन सिंह पर लगाया बड़ा आरोप कहा, मंत्रियों से पैसा ले रहे हैं प्रभारी

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखण्गुड के गोड्डा से सांसद रहे फुरकान अंसारी ने झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह पर बड़ा आरोप लगाया है. झारखंड प्रदेश कांग्रेस में बगावती तेवर आसानी से देखी जा सकती है. और यह लंबे समय से चला आ रहा है. कई प्रयासों के बावजूद भी बागियों के तेवर थमने का नाम नहीं ले रहा है.

Advertisement

पूर्व सांसद और कांग्रेस के वरीय नेता फुरकान अंसारी ने झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह के खिलाफ एक बार फिर मोर्चा खोल दिया है. मंगलवार को फुरकान अंसारी ने कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल से दिल्ली में मुलाकात कर राज्य के हालात पर उन्हें एक रिपोर्ट सौंपी है. फुरकान अंसारी ने वेणुगोपाल से कहा है कि वन मैन-वन पोस्ट को तवज्जो दिया जाए. वर्तमान के प्रदेश अध्यक्ष राज्य में मंत्री भी हैं. इसलिए प्रदेश में अध्यक्ष को बदलना चाहिए. झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार बनने के बाद झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव को राज्य में वित्त मंत्री बनाया गया है. जिसके बाद से यह बातें चल रही है कि मंत्री बनने के बाद उन्हें प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए या फिर पार्टी आलाकमान वन मैन एक पोस्ट को तवज्जो देते हुए उनसे इस्तीफा ले.

Also Read: राज्यपाल से मिला भाजपा का डेलिगेशन टाना भक्तों की समस्याओं से कराया अवगत

झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह मंत्रियों से वसूलते हैं खुल्लम-खुल्ला पैसा:

फुरकान अंसारी ने झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश कांग्रेस में बीते 4 सालों के दौरान कोई कमेटी नहीं बन सकी है. जिसकी पूरी जिम्मेदारी आरपीएन सिंह की है उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि आरपीएन सिंह ने झारखंड को अपना ऐसो आराम का अड्डा बना लिया है. झारखंड सरकार में शामिल कांग्रेस के मंत्रियों से वह प्रत्येक महीने एक तय राशि वसूल करते हैं. यही कारण है कि यहां ईमानदारी से काम नहीं हो रहा है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह एक आश्चर्यजनक है कि वह खुल्लम-खुल्ला राशि वसूल रहे हैं. पर यह बातें किसी से छुपी नहीं है.फुरकान अंसारी ने महासचिव से आग्रह किया है कि जल्द ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी को हटाया जाए क्योंकि तभी झारखंड में कांग्रेस अपना जनाधार तेजी से बढ़ा पाएगी.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Related News

Popular Searches