Alamgir Alam Raghubar das

पूर्व की रघुवर सरकार में गठित ग्राम विकास समितियों की फंडिंग पर रोक, खर्च नहीं की गयी राशि होगी वापस

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

पूर्व की रघुवर सरकार द्वारा पंचायत स्तर पर दो तरह की ग्राम विकास समितियों का गठन किया गया था. आदिवासी बहुल क्षेत्रों के लिए आदिवासी विकास समिति और गैर आदिवासी क्षेत्रों के लिए ग्राम विकास समिति के नाम से दो तरह की गठित की गई थी। इन्हें गांवों में कुआं, तालाब, डोभा, स्ट्रीट लाइट आदि विकास कार्य करने की जिम्मेवारी सौंपी गई थी।

Advertisement

Also Read: आज होगा CM सोरेन का कोरोना टेस्ट, होम क्वारंटाइन में है मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

ग्रामीण विकास विभाग के तहत ही इन समितियों को वर्ष 2018-19 में और 2019-20 में कुल 172 करोड़ों रुपए विकास कार्यों के मद में इन समितियों को दिए गए थे। इस वित्तीय वर्ष में इन्हें कोई राशि आवंटित नहीं की गई है। पूर्व में भी जो राशि आवंटित है और अगर वह खर्च नहीं हुई है तो उसे वापस लिया जाएगा।

Also Read: बालू पर बोले कुणाल षाड़ंगी कहा, NGT के आदेश का पालन नहीं कर रही है राज्य सरकार

वर्तमान की हेमंत सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में पूर्व से ही जनता द्वारा चुनी गईं समितियां हैं, ऐसे में अलग से समितियों के गठन की आवश्यकता नहीं थी। इसलिए इन समितियों को विकास कार्य के लिए राशि देने पर रोक लगा दी गई है। 2 वित्तीय वर्ष में योजना के तहत समितियों द्वारा किए गए कार्यों एवं उस पर खर्च राशि का आकलन किया जा रहा है।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches