Skip to content
Advertisement

Jharkhand Government: बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ होने नहीं देगी हेमंत सरकार, जनवरी से हाजरी बनाने शिक्षकों को जाना होगा विद्यालय

Jharkhand Government: झारखंड सहित देश भर के सरकारी विद्यालयों में शिक्षकों की अनुपस्थिति का मामला सामने आते रहती है जिस कारण बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा नहीं मिल पाती है. झारखंड की हेमंत सरकार के शिक्षा विभाग ने ऐसे लापरवाह शिक्षकों को नकेल कसने की पूरी तैयारी कर ली है जो आने वाले साल 2023 से दिखनी शुरू हो जाएगी.

दरअसल, एक जनवरी से घर बैठे हाजिरी बनाने वाले शिक्षकों की परेशानी बढ़ने जा रही है. अब उन्हें हाजिरी बनाने के लिए स्कूल जाना पड़ेगा. शिक्षकों को ई-विद्यावाहिनी एप पर बायोमेट्रिक के जरिये अटेंडेंस बनाने की सुविधा मिली थी. इसका कई शिक्षकों ने दुरुपयोग करना शुरू कर दिया और घर बैठे हाजिरी बनाने लगे. इसे देखते हुए स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने सभी स्कूलों को जियो फेंसिंग सिस्टम से जोड़ दिया है. 1 जनवरी से इस सिस्टम के शुरू होने के बाद शिक्षक स्कूल से 50 से 100 मीटर की निर्धारित दूरी तक से ही अपनी हाजिरी बना सकते हैं. अगर इस दायरे से बाहर उन्होंने हाजिरी बनाई, तो वे अनुपस्थित पाए जाएंगे.

Jharkhand Government: दिसम्बर महीने में होगा ट्रायल, फिर होगा स्कूलों में लागू

स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग अगले एक महीने तक सभी स्कूलों को इस व्यवस्था को समझने का मौका देगा. एक महीने के ट्रायल पीरियड में नेटवर्क कनेक्टिविटी और अन्य तकनीकी खामियों को भी देखा जाएगा और उन्हें पूरी तरह दुरुस्त करने के बाद एक जनवरी से इसे लागू किया जाएगा. फिलहाल विभाग इसे लेकर स्कूलों का डाटा अपलोड कर रहा है और स्कूलों का जिओ लोकेशन सिस्टम में फीड किया जा रहा है.

Also Read: निशिकांत दुबे ने झारखंड BJP की करा दी फ़जीहत, झारखंडियो को ठगा प्रदेश की जनता कहना पड़ गया भारी

नई व्यवस्था शुरू होने के बाद शिक्षक नेटवर्क कनेक्टिविटी का भी बहाना नहीं बना सकेंगे. स्कूल आते और स्कूल छोड़ते वक्त उन्हें ई-विद्यावाहिनी पर पंच करना होगा. इससे पता चलेगा कि शिक्षक कब तक स्कूल में रहे. जो शिक्षक पोर्टल के जरिये अपनी हाजिरी नहीं बनाएंगे, जनवरी महीने से उनके वेतन का भुगतान रोक दिया जाएगा.

Jharkhand Government: विभाग कर रहा है तैयारी, स्कूल का डाटा और लोकेशन हो रहा अपडेट

स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की निदेशक किरण कुमारी पासी ने कहा कि राज्य के स्कूलों को जियो फेंसिंग सिस्टम से जोड़ा जा रहा है. एक जनवरी से सभी शिक्षकों को ई-विद्यावाहनी में अनिवार्य रूप से अपनी हाजिरी बनानी होगी. फिलहाल स्कूलों का डाटा और उनके जिओ लोकेशन को अपडेट करने का काम चल रहा है.

Also Read: JSSC ने इन 176 पदों पर निकाली बंपर भर्ति, 1 lakh तक की है सैलरी

Advertisement
Jharkhand Government: बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ होने नहीं देगी हेमंत सरकार, जनवरी से हाजरी बनाने शिक्षकों को जाना होगा विद्यालय 1