jharkhand high court

हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से कहा, दवाओं की कालाबाजारी करने वाले पर करे कार्रवाई Jharkhand High Court

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

Jharkhand High Court: झारखंड में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है दिन प्रतिदिन संक्रमितो का आंकड़ा तेजी से बढ़ने के साथ ही नए नए रिकॉर्ड बना रहा है. वही, मौतों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है इस आपदा के समय में जीवन रक्षक दवाओं की आपूर्ति नहीं हो पा रही है इसे लेकर सरकार को हाईकोर्ट ने कड़ा निर्देश दिया है.

Advertisement

झारखंड हाईकोर्ट ने सोमवार को जीवन रक्षक दवाएं इंजेक्शन नहीं मिलने और उसकी कालाबाजारी पर नाराजगी जाहिर की है कोर्ट ने ऐसे तत्वों की पहचान कर तत्काल कार्यवाही करने का आदेश सरकार को दिया है. दरअसल, सोमवार को सदर अस्पताल रांची से संबंधित मामले की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद के खंडपीठ ने राज्य के मुख्य सचिव से कहा कि कोरोना के मरीजों को रेमडेसिवीर इंजेक्शन, ऑक्सीजन सहित अन्य जरूरी दवाएं समय पर उपलब्ध कराई जाए. इनकी आपूर्ति बढ़ाएं ताकि जनता को जीवन रक्षक दवाएं मिल सके और उनके जीवन की रक्षा हो सके.

Also Read: जामताड़ा वासियों के लिए ऑक्सीजन फ्री, ऑक्सीजन के अभाव में किसी को मरने नहीं दूंगा- Irfan Ansari

सुनवाई के दौरान राज्य के मुख्य सचिव हाई कोर्ट में ऑनलाइन हाजिर हुए थे. दवाओं की कालाबाजारी को लेकर कोर्ट ने कहा कि जो आपदा के समय ऐसी दवाओं की बिक्री कई गुना कीमत पर कर रहे हैं उन पर नजर रखें इन असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई करें. इसके साथ ही हाईकोर्ट ने स्वास्थ्य केंद्र को कोविड-19 अस्पताल में बदलते हुए यहां ऑक्सीजन सपोर्ट तैयार करने का आदेश दिया है. एडवोकेट एनेक्सी हॉल में ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था करने को कहा. सोमवार को सुनवाई में कोई भी वकील शामिल नहीं हुए पूर्व में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मुख्य सचिव को हाजिर होने का निर्देश दिया था.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches