ranchi

Jharkhand News Ranchi: लॉकडाउन में विद्यालय बंद होने से परिवार की बिगड़ी आर्थिक स्थिति, महिला शिक्षिका ने खुद को लगाई आग

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

Jharkhand News Ranchi: एक गरीब परिवार के लिए  भूख और गरीबी के हालात से दो-दो हाथ करना कितना मुश्किल हो सकता है इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है. लॉकडाउन के कारण बंद हुए प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षकों की आर्थिक स्थिति पूरी तरह से चरमरा गई है.

Advertisement

झारखंड की राजधानी रांची जिला के बेड़ों इलाके में रहने वाली एक महिला टीचर ने पिता और भाई की मौत के बाद डिप्रेशन में आकर खुद को आग के हवाले कर दिया जिसके बाद उसे आनन-फानन में उपचार के लिए अस्पताल लाया गया. जानकारी के मुताबिक पिता और भाई के मौत के बाद  शिक्षिका डिप्रेशन में थी. जिसके बाद उसने केरोसिन का तेल छिड़ककर खुद को आग के हवाले कर दिया. गंभीर स्थिति में उसका इलाज चल रहा है. रांची जिला के बेड़ो थाना क्षेत्र के दिघिया गांव की रहने वाली 28 वर्षीय जयश्री इंदुवार  ने अपने ऊपर केरोसिन का तेल डालकर आग लगा ली.

Also Read: कोरोना की उपचार में आने वाली रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते 2 लोगों को किया गया गिरफ्तार

पूरे मामले को लेकर आसपास के लोगों ने बताया की जयश्री इंदुवार बगल के गांव तूको के पास एक प्राइवेट एमएस पब्लिक स्कूल में पिछले कई वर्षों से पढ़ाती थी. लॉकडाउन के बाद स्कूल बंद होने से उनके परिवार की आर्थिक स्थिति खराब हो गई. 1 वर्ष पहले उनके पिता दुर्गा महली की मौत बीमारी से हो गई थी. वही 1 महीने पहले उसके छोटे भाई शिवराज मोहाली की मौत हो गई थी जिसके बाद से जयश्री काफी डिप्रेशन में थी.

घटना की जानकारी मिलने के बाद थाना प्रभारी मनीष कुमार गुप्ता ने आग में झुलसी युवती के घर पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया जिसके बाद घटना की जानकारी देते हुए थाना प्रभारी मनीष कुमार गुप्ता ने बताया कि जयश्री इंदुवार अपने भाई और पिता की मौत के बाद से डिप्रेशन में रहती थी इस मामले की जांच की जा रही है. 

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches