Skip to content
Advertisement

Koderma News: किस वायरस के कारण 3 बच्चों की हुई रहस्यमई मौत, जांच में जुटी स्वास्थ्य विभाग की टीम

zabazshoaib
Advertisement
Advertisement
Koderma News: किस वायरस के कारण 3 बच्चों की हुई रहस्यमई मौत, जांच में जुटी स्वास्थ्य विभाग की टीम 1

Koderma: कोडरमा जिले के सतगावां प्रखंड में झरगांव में पिछले 5 दिनों के अंदर तीन बच्चों की रहस्यमई मौत हो गई है. लगातार अचानक हो रही बच्चों की मौत से गांव में दहशत का माहौल बन गया है. मंगलवार को इस पूरे मामले की जानकारी स्थानीय सेविका ने स्वास्थ्य विभाग व प्रखंड प्रशासन को दी है जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए गांव पहुंची. स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस बात की जांच कर रहा है कि नहीं बच्चों में चमकी बुखार जैसे लक्षण तो नहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव के प्रत्येक घर की जांच कर रही है.

क्या है इसके लक्षण

बता दें कि इस वायरस से हल्का बुखार के साथ मौत से पहले बच्चों को दो-तीन बार उल्टी होती है इसके बाद में से झाग आते ही बच्चा बेहोश हो जाता है और फिर मौत हो जा रही है. 4 नवंबर को जहां दो बच्चों की मौत हुई थी वहीं मंगलवार को एक बच्चे की मौत इसी तरह से हो गई लगातार तीन बच्चों की मौत के बाद से पूरे मामले की जानकारी स्थानीय आंगनबाड़ी सेविका प्रतिमा देवी ने स्वास्थ्य विभाग व प्रखंड विकास पदाधिकारी वेदनाथ उरांव को दी. जानकारी के अनुसार 4 नवंबर को वर्षा कुमारी 4 वर्ष पिता साजन भुइयां व नंदनी कुमारी 3 वर्ष पिता रामधनी भैया की मौत हो गई थी 8 नवंबर को प्रीति कुमारी 3 वर्ष पिता राजेश भैया की मौत हो गई मौत के बाद परिजनों ने अंतिम संस्कार भी कर दिया.

जांच में जुटी स्वास्थ्य विभाग की टीम

सेविका द्वारा मामले की जानकारी दिए जाने के बाद वीडियो भेजना तो गांव में स्वास्थ्य विभाग को कैंप लगाकर जांच करने का निर्देश दिया है वीडियो ने किस कारण से बच्चों की मौत हो रही है इसकी जांच इसकी भी जांच कराने की बात कह रही है मंगलवार को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सतनारायण भगत के नेतृत्व में मेडिकल टीम गांव पहुंची युवा मामले की जानकारी ली इस तरह के लक्षण वाले बच्चों की पहचान करने की भी कोशिश की. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बताया कि जिस तरह का लक्षण लोगों ने बताया है वह डेंगू का तो नहीं हो सकता पर हम इस बात की जांच कर रही है कि कहीं चमकी बुखार का लक्षण तो नहीं है. टीम ने गांव के लोगों को स्वास्थ्य विभाग दिशा निर्देश का पालन करने के लिए कहा है.