Skip to content
Advertisement

Jharkhand: आदमखोर तेंदुआ ने झारखंड में मचा रखा है आतंक, 25 दिनों में 5 लोगो को बनाया अपना शिकार

Jharkhand: झारखंड में तेंदुए के हमले से 25 दिनों के भीतर पांच लोगों की मौत से पलामू टाइगर रिजर्व क्षेत्र और गढ़वा जिले के निवासियों में लगातार भय और दहशत का माहौल बना हुआ है. इलाके के करीब 150 गांवों के लोग बाघ के हमले के डर से सूरज ढलते ही अपने घरों की ओर निकल जाते हैं।

Jharkhand: तेंदुए के डर से बच्चे स्कूल नहीं जा रहे हैं, बच्चों की उपस्थिति में भारी गिरावट

तेंदुए की दहशत के चलते स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति में भारी गिरावट देखी गई है। किसान जब भी अपने खेतों में काम करते हैं तो उन्हें अपने साथ किसी को रखने के लिए मजबूर हो जाते हैं। वन विभाग का दावा है कि मौतों के लिए केवल एक आदमखोर तेंदुआ जिम्मेदार है, जबकि ग्रामीणों का मानना ​​है कि ये एक नहीं बल्कि अधिक हैं। वन्यजीव विशेषज्ञ तेंदुओं के नरभक्षी बनने के मामले को एक बड़ी चिंता के रूप में देख रहे हैं, क्योंकि वे आम तौर पर मनुष्यों पर हमला नहीं करते हैं।

Also Read: Aadhar Card Update: ब‍िना डॉक्‍यूमेंट के आधार कार्ड में अपडेट हो जाएगा पता, जाने क्या है आधार अपडेशन का नया नियम

यह तेंदुओ के लिए जीवन और भोजन के मामले में प्रतिकूल परिस्थितियों में ही ऐसा होता है। गढ़वा दक्षिणी वन प्रमंडल के अधिकारी शशि कुमार ने बताया कि अभी तक मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्र में एक ही तेंदुआ है जो मानव बस्तियों में घुसकर लोगों पर हमला करता रहा है. उन्होंने कहा कि तेंदुए को शांत करने और उसे पकड़ने के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है।

Jharkhand: अब तक तेंदुए को यहाँ देखा गया और इनपर हमला हुआ है

गढ़वा जिले के भंडरिया प्रखंड के कुशवाहा-बरवा गांव के पास भी यही तेंदुआ देखा गया. 28 दिसंबर को शाम 6 बजे के आस-पास कुशवाहा गांव में एक 12 वर्षीय लड़के को तेंदुए ने मार डाला। इससे पहले 10 दिसंबर को लातेहार जिले के उकामड़ गांव में उस तेंदुए ने 12 साल की बच्ची पर हमला कर दिया था. दूसरी घटना 14 दिसंबर को गढ़वा जिले के रोड़ो गांव में 9 साल के बच्चे पर हमला करने की है. तीसरी घटना 19 दिसंबर को रंका प्रखंड में हुई, जहां तेंदुए के हमले में सात साल की बच्ची की मौत हो गई. इसी तरह जनवरी के पहले सप्ताह में पलामू टाइगर रिजर्व के बरवाडीह प्रखंड में जंगली जानवर के हमले में एक बुजुर्ग की मौत हो गयी थी. ग्रामीणों का आरोप है कि तेंदुए ने व्यक्ति पर हमला किया, जबकि वन विभाग का दावा है कि व्यक्ति को लकड़बग्घे ने मारा है।

Advertisement
Jharkhand: आदमखोर तेंदुआ ने झारखंड में मचा रखा है आतंक, 25 दिनों में 5 लोगो को बनाया अपना शिकार 1