jharkhand-rims_optimized

रिम्स में स्वास्थ्य मंत्री की बैठक कहा, चैलेंज बड़ा हैं मिलकर लड़ना भी हैं और जितना भी हैं

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

सूबे के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने सोमवार को रिम्स के निदेशक और अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना से लड़ने और भविष्य की कार्ययोजना की समीक्षा की है. रिम्स में कोविड के टास्क फोर्स के साथ एक उच्चस्तरीय बैठक थी.

Advertisement

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बैठक में कहा कि रिम्स राज्य का सबसे बड़ा अस्पताल है. कोरोना काल में रिम्स को ज्यादा जिम्मेदारी के साथ काम करने की जरूरत हैं. जो भी खामियाँ हैं उसे दूर कर बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था बहाल करने की जरूरत है. रिम्स निदेशक को निर्देश देते हुए मंत्री ने कहा कि र्सिंग स्टाफ और मेडिकल कर्मियों की दिक्कत हो रही हैं उसे तुरंत दूर करने के लिए आवश्यक कदम उठाए।

Also Read: झारखंड सरकार का बड़ा फैसला, अब सभी तरहा के वाहनों से हो सकेगा बालू का परिवहन

रिम्स में वर्तमान में क्षमता से कम मरीजों का इलाज हो रहा है इसलिए अन्य विभागों से मैनपॉवर का संयोजन कर कोविड के लिए वैकल्पिक व्यवस्था निर्धारित करें। साथ ही जरूरत पड़े तो आउटसोर्सिंग के माध्यम से जरूरत के अनुसार पदों पर नियुक्ति करें. उन्होंने कहा है कि अब चैलेंज बढ़ा हैं और विस्तार हुआ है, जांच ज्यादा हो रहे हैं, जिम्मेदारी भी बढ़ी हैं, इस समय टीम भावना से काम करने की जरूरत हैं, उन्होंने बताया कि उन्हें रिम्स पर पूरा विश्वास हैं और कोरोना की लड़ाई में रिम्स का महत्वपूर्ण योगदान याद रखा जाएगा।

Also Read: झारखंड में आज कोरोना से एक साथ 5 लोगो की मौत, राज्य में कोरोना से मरने वालो सांख्य हुई 54

बन्ना गुप्ता ने कहा कि अब समय आ गया है कि कोरोना के अलावे भी बेहतर तरीके से अन्य रोगों के मरीजों का इलाज सुनिश्चित हो, उन्होंने बताया कि गंभीर रोगों और गर्भवती महिलाओं के इलाज पर विशेष ध्यान रखें।साथ ही अन्य गंभीर रोगों के प्रति भी सकारात्मक ऊर्जा के साथ सेवा कार्य करने की जरूरत हैं।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches