pradeep yadav

विधायक प्रदीप यादव ने PM को पत्र लिखकर अडानी पावर के निर्माण कार्य में जुटी चीनी कंपनी का अनुबंध रद्द करने की मांग की है

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

भारत-चीन सीमा विवाद में भारत के 20 जवान शहीद होने के बाद पुरे भारत में चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए है. केंद्र की मोदी सरकार द्वारा 59 चीनी एप्स पर भारत में प्रतिबंध लगाये जाने के बाद अब चीनी कंपनी से सभी तरह के संबंध तोड़ लेने की मांग देशभर में उठ रहे हैं।

Advertisement

Also Read: बाबा बैद्यनाथ का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त, जानें कहाँ होगा लाइव प्रसारण

विधायक प्रदीप यादव ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर चीनी कंपनियों का अनुबंध रद्द करने की मांग की है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि सेप्को-3 नाम की चीनी कंपनी अडानी पावर के निर्माण कार्य में जुटी है। इस कंपनी के 95 चाईनीज वर्कर और अन्य चाईनीज वर्कर्स अडानी पावर के साथ जुड़े हैं, जो अडानी के 1600 मेगावाट ताप विद्युत परियोजना में कार्यरत हैं। उन्होंने कहा है कि राष्ट्रहित में चीनी कंपनी को अविलम्ब हटाकर स्वदेशी प्रेम और देश के लिए एक मिशाल पेश की जानी चाहिए।

Also Read: JAC कक्षा 11वीं का रिजल्ट हुआ जारी, ऐसे देखे अपना रिजल्ट

प्रदीप यादव ने आगे अपने पत्र में कहा कि अगर चीनी कंपनियों की जगह स्वदेशी कंपनी को मौक दिया जाता तो स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार मिल पता. चीनी कंपनी हमारी छाती पर बैठकर काम कर रहे है लेकिन हमारे लोग बेरोजगार बैठे है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches