Skip to content
jharkhand assembly
Advertisement

कुर्मी/कुडमी को ST में शामिल करने की मांग, सदन के बाहर पक्ष-विपक्ष के विधायकों ने किया प्रदर्शन

Shah Ahmad

झारखंड में कुर्मी और कुडमी जाति को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल करने के लिए बजट सत्र के दौरान 16 मार्च को कुर्मी/कुडमी समुदाय के विधायकों ने इसके समर्थन में सदन के बाहर प्रदर्शन किया. सदन के बाहर सीढ़ियों पर बैठकर कुर्मी/कुडमी जाति को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल करने की मांग की गई.

Advertisement

सोमवार को सदन में अनुसूचित जाति जनजाति के ऊपर चर्चा भी हुई थी. यह मुद्दा लंबे समय से राज्य में उठ रहे हैं ऐसे में अब सत्तापक्ष के विधायक से लेकर विपक्ष के विधायक भी इस मांग को और मजबूती देने में लगे हैं. यही कारण है कि आज सदन के बाहर एक तस्वीर देखने को मिली है जिसमें पक्ष और विपक्ष के विधायक कुर्मी/कुडमी जाति को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल करने की मांग कर रहे थे.

Also Read: झारखंड में प्रमंडल स्तर पर खुलेंगे अल्पसंख्यक और ओबीसी के लिए आवासीय विद्यालय, सदन में मंत्री चंपई सोरेन ने दी जानकारी

प्रदर्शन करने वाले विधायकों में सत्ता पक्ष के विधायक और पूर्व मंत्री मथुरा प्रसाद महतो, झामुमो विधायक सविता महतो, आजसू विधायक लंबोदर महतो सहित अन्य विधायक प्रदर्शन में शामिल थे. झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायक मथुरा प्रसाद महतो ने कहा कि कुर्मी/कुडमी जाति पहले अनुसूचित जनजाति में ही शामिल थे लेकिन इसे हटा दिया गया था. राज्य सरकार से मांग है कि इसे अनुसूचित जनजाति में शामिल कर केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजने का काम करें. वही आजसू के विधायक लंबोदर महतो ने कहा कि सदन से कुर्मी /कुडमी जाति को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने के प्रस्ताव को पास करके केंद्र सरकार को भेजने का काम किया जाए ताकि राज्य में कुर्मी/कुडमी समुदाय को जनजाति का दर्जा मिल सके.

Also Read: BJP ने सदन में उठाया बालू घाटों की नीलामी का मुद्दा, जानिए जवाब में सीएम हेमंत सोरेन ने क्या कुछ कहा

Leave a Reply