Skip to content
Advertisement

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना: झारखंड के 1001 यात्रियों ने किया तीर्थ स्थलों का दर्शन, सीएम से योजना को जारी रखने की अपील

Divya Kumari

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना अंतर्गत झारखंड सरकार अब राज्य के गरीब (बीपीएल) नागरिकों को ना सिर्फ तीर्थ स्थलों का दर्शन करवा रही है, बल्कि उनका खर्च भी वहन कर रही है।

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना, 2023 के दूसरे चरण के तहत 20 मार्च से 27 मार्च 2023 तक राज्य के 60 वर्ष से अधिक आयु के बीपीएल श्रेणी के 1001 वरिष्ठ हिन्दू धर्मावलम्बियों को द्वारका एवं सोमनाथ की तीर्थ यात्रा कराई गयी। 

इस तीर्थ यात्रा में सभी तीर्थ यात्रियों को निःशुल्क बस, ट्रेन से यात्रा, नाश्ता, भोजन एवं होटल में ठहराने तथा बस के माध्यम से स्थानीय धार्मिक स्थलों का भ्रमण कराया गया।

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना: तीर्थयात्रियों ने मुख्यमंत्री से इस योजना को जारी रखने का किया है आग्रह, ताकि गरीब भी धार्मिक स्थलों का कर सके दर्शन

इससे पूर्व  झारखण्ड पर्यटन विकास निगम लि. द्वारा प्रथम चरण में राज्य के 60 वर्ष से अधिक आयु के बीपीएल श्रेणी के कुल 830 वरिष्ठ इस्लाम धर्मावलम्बियों को15 फरवरी से 21 फरवरी तक अजमेर शरीफ, आगरा एवं फतेहपुर सीकरी के तीर्थ स्थलों का दर्शन कराया गया था।

इसे भी पढ़े- Jharkhand Vacancy 2023: झारखंड में इस साल 74 हजार पदों पर होंगी नियुक्तियां

दोनों तीर्थ यात्रा से सभी तीर्थ यात्री काफी प्रसन्न  हैं और झारखंड सरकार के इस प्रयास की सराहना करते हुए उन्होंने सरकार को धन्यवाद दिया है। तीर्थ यात्रियों ने मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन से इस योजना को आगे भी जारी रखने की अपील की है, ताकि उनके जैसे और भी गरीब नागरिक इस योजना का लाभ उठा कर तीर्थ दर्शन कर सकें।

Advertisement
मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना: झारखंड के 1001 यात्रियों ने किया तीर्थ स्थलों का दर्शन, सीएम से योजना को जारी रखने की अपील 1