mob lynching jharkhand

झारखंड मॉब लिंचिंग मामले पर NHRC ने DC और SSP से पूछा मौत का असली कारण jharkhand mob lynching case

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

jharkhand mob lynching case: झारखंड की राजधानी रांची में बीते महीने हुए सचिन वर्मा की मॉब लिंचिंग का मामला अब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के पास पहुंच गया है इस मामले को लेकर आयोग ने रांची के डीसी और एसएसपी को एक पत्र भेजकर 14 अलग-अलग बिंदुओं पर 2 महीने के भीतर रिपोर्ट जमा करने को कहा है.

Advertisement

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के लॉ डिवीजन की तरफ से मांगे गए रिपोर्ट में सचिन वर्मा की मौत की असली वजह सचिन की कब और कहां से गिरफ्तारी की गई साथ ही उसकी गिरफ्तारी के कारण का स्पष्ट जवाब मांगा गया है. इसके अलावा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किस प्रकार की इंजरी पाई गई और उसकी गिरफ्तारी की परिजनों को जानकारी थी या नहीं सहित कई सवाल पूछे गए हैं.

Also Read: झारखंड में लगने वाला है कड़ा प्रतिबन्ध ! स्कूल, कोचिंग, धार्मिक स्थल और सिनेमा हॉल होगे बंद

बता दे की 8 मार्च की रात को रांची के अप्पर बाजार के स्थानीय मोटिया मजदूर ने 22 साल के सचिन कुमार वर्मा की बेदर्दी से पिटाई की थी उसे पीट-पीटकर अधमरा कर दिया था इतना ही नहीं उसके पूरे शरीर में गर्म लोहे की रॉड से भी दागा गया था पुलिस ने उसे भीड़ से बचाकर कोतवाली थाना लाई थी जहां 9 मार्च को उसकी मौत हो गई थी. सचिन नवाटोली भुतहा तालाब  के पास का रहने वाला था. इस मामले में 40 लोगो पर परिवार के दबाव में मुकदमा दर्ज किया गया था.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches